गोपालगंज के एसएस बालिका में रखे मैट्रिक परीक्षा की 42 हजार उत्तर पुस्तिकाएं गायब, मचा हड़कंप

बिहार में शिक्षा की स्थिति कितनी लचर है, इसका खुलासा एक बार और हो गया है। 10वीं रिजल्ट की घोषणा से ठीक पहले गोपालगंज में 10वीं क्लास की 42,000 उत्तर पुस्तिकाएं गायब हो गई हैं। शहर के एसएस बालिका स्कूल से पूरी 42,000 उत्तर पुस्तिकाएं गायब होने से हड़कंप मच गया है। स्कूल के अधिकारियों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है। गोपालगंज से 10वीं कक्षा की 42,000 उत्तर पुस्तिकाओं के 213 बंडल गायब होने से शिक्षा व्यवस्था पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। इन उत्तर पुस्तिकाओं को मूल्यांकन के बाद गोपालगंज के एसएस बालिका स्कूल के स्ट्रांग रूम में रखा गया था। इस मामले में गोपालगंज के नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

स्कूल के प्रिंसिपल प्रमोद कुमार श्रीवास्तव ने नगर थाना में कांड संख्या 265/18 के अंतर्गत मामला दर्ज कराया है। जिसमे दो कर्मचारीयों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। इसमें विभिन्न विषयों के 213 बंडल मूल्यांकित उत्तर पुस्तिकाओं के स्ट्रांग रूम से गायब होने की बात कही गई है। स्कूल के प्रिंसिपल प्रमोद श्रीवास्तव के अनुसार ईद की छुट्टियों के दौरान वो उत्तर प्रदेश के कुशीनगर स्थित अपने घर गए हुए थे। इसी बीच 15 जून को सुजीत कुमार नाम के बिहार बोर्ड के एक कर्मचारी का उन्हें फोन आया। उन्हें फोन पर कहा गया कि बोर्ड ने कुछ उत्तर पुस्तिकाओं की मांग की है। इसके लिए वे इसी दिन अपने घर से गोपालगंज पहुंचे और उत्तर पुस्तिकाओं की खोजबीन की। इसी क्रम में खोजने पर कई कॉपियां नहीं मिली और पता चला कि कुछ कॉपियां गायब हो गई हैं। बोर्ड के उक्त कर्मचारी जो कॉपियां मिलीं, उसे लेकर चले गए और गायब कॉपियां जल्द खोजकर भेजने का आग्रह किया। श्रीवास्तव ने बताया है कि बाद में इसी खोजबीन के क्रम में स्ट्रांग रूम से 213 बंडल कॉपियां गायब पायी गई। उन्होंने बताया कि विगत 5 अप्रैल को ही कॉपियों की जांच कर उन्हें स्ट्रांग रूम में सील कर रख दिया गया था, लेकिन बड़ा सवाल है कि आखिर कॉपियां गई कहां। कुछ दिन पहले ही इंटर की रिजल्ट में हुई गड़बड़ी में छात्रों ने हंगामा किया था।

गोपालगंज में मैट्रिक के उत्तरपुस्तिकाओं की कॉपी गायब होने की खबर के बाद शिक्षा विभाग से लेकर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति में हडकंप में मच गया है। गोपालगंज जिला शिक्षा पदाधिकारी अखिलेश्वर प्रसाद सही शिक्षा विभाग के कई पदाधिकारी एसएस बालिका इंटर स्कूल पहुंचे। यहां उन्होंने पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी है। डीइओ ने स्कूल प्रबंधन से कॉपियों से संबंधित हर पहलुओं की तहकीकात की साथ ही हर आंसर शीट के बंडल को बारीकी से खंगाला।

जिला शिक्षा पदाधिकारी अखिलेश्वर प्रसाद ने कहा कि इस मामले की प्राथमिकी नगर थाना में दर्ज करायी है। इस प्राथमिकी के बाद वे आज यहां पहुंचे है। यहां से करीब 216 बंडल आंसर शीट के गायब है। गायब बंडल में सभी विषयों के मूल्यांकित कॉपी शामिल हैं। वे दोबारा इस मामले की जांच कर रहे हैं।

इस मामले में एसएस बालिका स्कूल के नाइट गार्ड और आदेशपाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। नगर थाना पुलिस ने इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। नगर थाना में पदस्थापित एसआई अरुण कुमार सिंह के मुताबिक स्कूल के प्राचार्य के बयान पर थाना कांड संख्या 295/18 दर्ज कर लिया गया है। जिसमे धारा 381/ 120 बी आइपीसी के तहत केस दर्ज किया गया है।

वहीं गोपालगंज नगर थाना पुलिस ने इस मामले में बनाये गए दो नामजद अरोपियों को हिरासत में लिया गया है। हिरासत में लिये गए अरोपियों में स्कूल का आदेशपाल छठू सिंह और नाइट गार्ड आसपुजन सिंह शामिल हैं। गिरफ्तार किये गए दोनों अरोपियो से एसपी राशिद जमा और डीएसपी राजन सिन्हा पूछताछ कर रहे हैं। दोनों अरोपियों को गोपालगंज के नगर थाना में हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

10वीं का रिजल्ट आने के दो दिन पहले ही स्कूल से कॉपियों के गायब होने से BSEB की टेंशन बढ़ गई है। इस घटना के बाद बिहार बोर्ड की कार्यशैली पर भी सवाल खड़ा हो गया है। साथ ही बड़ी परेशानी इस बात को लेकर है कि स्क्रूटिनी के लिए आवेदन के क्रम में कापियों की दोबारा जांच कैसे होगी। ये कोई पहला मामला नहीं है जब बिहार बोर्ड की किकिरी हुई हो। अभी कुछ दिन पहले ही 12वीं कक्षा में छात्रों को कुल अंकों से ज्यादा अंक दिए जाने पर भी बोर्ड की खूब बदनामी हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!