गोपालगंज में भीख मागने से बच्चो ने किया इनकार, पिता ने जिन्दा दफ़न करने का किया कोशिश

गोपालगंज जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना प्रकाश में आया है। एक वहसी पिता ने अपने ही बच्चों से भीख मांगने के लिए मजबूर किया। बच्चो द्वारा इसका विरोध करने पर उसने इन्हें जिंदा दफनाने की भी कोशिश की। लेकिन पुलिस को ससमय सूचना मिलने से वह इस कुकृत्य में सफलता नही प्राप्त कर सका। किसी विद्वान ने कहा है कि मैं गरीब हूँ’ यह कहकर किसी को पाप कर्म में लिप्त नहीं होना चाहिए।   लेकिन यदि आप ऐसा कोई कृत्य करते है तो वह माफी के लायक नही है। घटना फुलवरिया के भागवत परसा गाँव की है। आरोपी पिता अपने ही बच्चो से भीख मंगवाने का दबाव डाल रहा था। जिसका बच्चो ने विरोध किया तो पिता ने अपने एक बेटे और बेटी को मिटटी में जबरन जिन्दा दफ़न करने की कोशिश करने लगा।

फुलवरिया थानाध्यक्ष प्रेम प्रकाश राय के मुताबिक उन्हें आज सोमवार को सुचना मिली थी की कोई पिता अपने 4 साल के बेटे सनोज कुमार और 3 वर्षीय बेटी मिसा कुमारी को मिटटी में दबाने की कोशिश कर रहा है। इसकी सुचना मिलते ही दोनों बच्चो को मौके से सकुशल बरामद कर लिया गया। फिर बच्चो को थाना पर लाकर उन्हें नहलाकर बिस्कुट खिलाया जा रहा है। दोनों बच्चे दहशत में है, लेकिन सुरक्षित है।
प्रेम प्रकाश ने कहा की पिता अपने बच्चो से भीख मांगने के लिए दबाव बनाता था। जिसके बाद जब बच्चो ने भीख मांगने से मना किया तो उसके पिता उन्हें मारने की कोशिश करने लगा। हालाकि मौके से आरोपी पिता फरार हो गया है। जिसे गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।
बरामद किये गए दोनों बच्चो को श्रम अधीक्षक के माध्यम से किसी एनजीओ को सौप दिया जायेगा ताकि बरामद इन बच्चो का बचपन सुरक्षित किया जा सके।

बता दे की आरोपी पिता का नाम भृगुन महतो है। वह फुलवरिया के भागवत परसा का रहने वाला है। गरीबी की वजह से उसकी पत्नी पहले ही घर छोड़कर फरार हो गयी है। जिसके बाद पिता ही अपने बच्चो की देखभाल करता था। लेकिन वह आर्थिक तंगी से जूझ रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!