गोपालगंज के पंचदेवरी में बाल काटने के मामले में जांच करने पहुँचे बीडीओ और सीओ

गोपालगंज के पंचदेवरी प्रखंड के महेशपुर में सोमवार को महाराष्ट्र से आई डेढ़ दर्जन महिलाओं द्वारा बाल का सेम्पल लिए जाने को लेकर तथाकथित चोटीकटवा महिलाओं को ग्रामीणों ने बंधक बना कर पुलिस को सौंप दिया था। इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए एसडीओ ने जांच के आदेश बीडीओ व सीओ को दिए है। जिसमे जांच कर रहे बीडीओ डा आनंद कुमार विभूति ने बताया कि दो चार पहिया वाहनों में लगभग डेढ़ दर्जन महिलाएं महेशपुर गांव में आई और आधा दर्जन महिलाओं के बाल काट लिए थे। जिसके बाद से धीरे-धीरे गांव के लोग चोटी कटवा गिरोह होने का संदेश जाहिर कर सभी महिलाओं को बंधक बना लिया था। महिलाओं के साथ प्रखण्ड स्तर के कोई पदाधिकारी नहीं थे और नाहीं उनलोगों के पास कोई पत्र हीं था। जिससे ग्रामीणो का शक पुरी तरह से मजबुत हो गया था। ग्रामीणों ने तत्काल इसकी सुचना बीडीओ डा आनंद कुमार विभूति, सीओ उपेन्द्र कुमार तिवारी, थानाध्यक्ष गौतम कुमार को दी। सुचना मिलने के बाद बीडीओ, सीओ, थानाध्यक्ष पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच कर सभी महिलाओं को चार पहिया वाहनो के साथ पकड़ लिया था। थानाध्यक्ष ने सभी महिलाओं को संदेह के अधार पुछताछ के लिए थाने ले गए थे।

वहीं जांच कर रहे सीओ उपेन्द्र कुमार तिवारी ने बताया कि जांच के क्रम में महिलाओं ने बताया कि महाराष्ट्र में एक निरमन नाम से एनजीओ चलता है। इसके माध्यम से हर व्यक्ति की जांच की जाती है। जिसमें बाल की जांच भी होती है। बालों का सेम्पल लेकर स्वच्छता व स्वस्थ्य की जांच की जाती है। हालांकि जांच के क्रम में सभी महिलाओं के पास से जो कागजात मिले है वे एनजीओं के दर्शाते है। लेकिन जिला मुख्यालय या राज्य से कोई भी पत्र इन महिलाओं के पास नहीं था। जिसको लेकर गांव के लोग भड़क गए। ग्रामीणों को संदेह हो गया कि ये महिलाएं चोटीकटवा गिरोह की तो नहीं है। घटना की पुरी जानकारी के लिए सभी महिलाओं को सुरक्षित कटेया थाना पर भेज दिया गया था।

मामले को गम्मीरता से लेते हुए थानाध्यक्ष गौतम कुमार ने सभी माहिलाओं को माहिला थाना भेज दिया था। इस मामले में मंगलवार को एसडीओ के आदेश पर महेशपुर गांव मे बीडीओ, सीओ ने जांच की। जांच के क्रम में ममता कुमारी, बेवी कुमारी, गंगोत्री देवी, आचल कुमारी, बचिया खातुन , सरिता देवी व अन्य माहिलाओ ने सहमती के बाद ही बाल काटने की पुष्ठी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!