गोपालगंज शिक्षा पदाधिकारी को अनौपचारिक महिला शिक्षको ने कार्यालय में बनाया बंधक

गोपालगंज में अनौपचारिक महिला अनुदेशकों ने जहा जमकर हंगामा किया. वही हंगामा कर रही सैकड़ो की की संख्या में महिला अनुदेशकों ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को उनके ही चैम्बर में ताला बंद कर दिया. जब महिला अनुदेशकों ने डीइओ के कार्यालय में तालाबंदी की तब नए डी ओ अपने कार्यालय में ही फाईलों को निबटा रहे थे. महिला कर्मिओ के हंगामा की वजह से आज बुधवार को दिनभर जिला शिक्षा कार्यालय में अफरातफरी का माहौल रहा.

हंगामा कर रही अनौपचारिक महिला अनुदेशक ललिता कुमारी के मुताबिक वे बैकुंठपुर प्रखंड से महिला अनुदेशक है. हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से उन्हें समायोजन के लिए डिग्री मिल चूका है. उनका पिछले साल जुलाई माह में ही काउंसलिंग पूरा करा लिया गया था. काउंसलिंग के एक साल पूरा हो जाने के बाद भी उनका समायोजन नहीं किया गया है. वे लगातार विभाग का चक्कर काट रही है. लेकिन उन्हें बार कुछ दिन बाद आने के लिए कहा जाता है.

वही फुलवरिया प्रखंड की महिला अनुदेशक नीलम पाण्डेय का कहना है की वे अपने नियुक्ति पत्र के लिए यहाँ जिला शिक्षा विभाग डीईओ कार्यालय में आई थी. यहाँ बार बार आने के बाद भी उनका नियुक्ति पत्र नहीं मिला है. जिससे नाराज होकर सैकड़ो की संख्या में महिला अनुदेशको ने डीईओ को उनके चैम्बर में ही बंद कर तालाबंदी कर दिया. महिला अनुदेशको की यह तालाबंदी करीब दो घंटो तक रही. जिसकी वजह से जिला शिक्षा पदाधिकारी कई घंटे तक अपने कार्यालय में ही नजरबंद रहे.

इस मामले में जिला शिक्षा पदाधिकारी अखिलेश्वर प्रसाद ने कहा की उन्हें आज ही प्रभार मिला है. उन्हें इस नियुक्ति की कोई जानकारी नहीं थी. आज ही उन्हें इस मामले की जानकारी दी गयी है. यह मामला पूर्व का है. महिला अनुदेशको का चतुर्थ वर्गीय कर्मिओ में सामंजन होना है. इसी को लेकर उन्हें बंधक बनाया गया था और उन्हें कार्यालय में ही तालाबंदी कर दिया गया था. वे सामंजन सम्बंधित फाइल की जाँच करेंगे. और जाँच के बाद एक सप्ताह में इस मामले में उचित फैसला कर सामंजन की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!