गोपालगंज: स्वच्छता के दैनिक व्यवहार से खुले में शौच से मिल सकती है मुक्ति – डीएम

गोपालगंज जिले के सभी 14 प्रखंडो को आने वाले 2 अक्टूबर तक ओडीएफ तक बनाने के अभियान के तहत आज जिला परिषद् सभागार में स्वच्छ भारत मिशन तथा लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के कार्य योजना की प्रखंड स्तर पर समीक्षा की. समीक्षा के उपरान्त डीएम ने गोपालगंज तथा पंचदेवरी प्रखंड के बीडीओ को जमीनी स्तर की कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश जारी किया।

बैठक के दौरान प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए जिलाधकारी अनिमेष कुमार पराशर ने बताया कि सभी प्रखंड को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए सबसे पहले लोगों का व्यवहार परिवर्तन करना जरूरी है। इसके लिए गांव-गांव में जागरूकता अभियान चलाने की जरूरत है । उन्होंने कहा कि सफाई के अभाव से एक दिन में 1000 नवजात बच्चो की जान डायरिया से चली जाती है इसके लिए हमारा फर्ज बनता है की हम लोगो को इस हद तक जागरूक करे की वो स्वयं निर्णय ले सके की स्वच्छता का हमारे दैनिक जीवन में शामिल होना जरुरी हो .

मिशन के सफलता के लिए प्रत्येक वार्ड में जाकर समुदाय के साथ मिलकर लगातार गतिविधियों को संचालित करना जरूरी है। ताकि खुले में शौच की कुप्रथा से निजात मिल सके। जिलाधिकारी ने सभी बीडीओ को पंचायतों में स्वच्छाग्रह केंद्र का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रत्येक दिन पंचायतों में चल रही गतिविधियों की मॉनीटरिंग जरूरी है। उन्होंने सभी बीडीओ व कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर स्वच्छता व आपदा जैसे कार्य को करने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया। साथ ही पंचायतों में सुबह शाम निगरानी रखने, रात्रि चौपाल का आयोजन करने तथा सामुदायिक बैठक के साथ ही लोगों को घूम-घूमकर जागरूक करने का निर्देश दिया।

बैठक के दौरान आगामी 27 मई को सभी पंचायतों में स्वच्छता जागरूकता के लिए दौड़, कुश्ती एवं कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन कराने का निर्देश दिया। बैठक में उप विकास आयुक्त दयानंद मिश्र, एसडीओ सदर शैलेश कुमार दास, डीपी शाही, जिला परिवहन पदाधिकारी भुपेंद्र प्रसाद यादव, परमानंद साह, जिला पंचायती राज पदाधिकारी शंभूनाथ रंजय बैठा तथा वेदांत मिश्र सहित कई पदाधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!