गोपालगंज के हथुआ में सड़क हादसे में छात्र की मौत, आक्रोशित लोगों ने फूंकी बोलेरो

गोपालगंज जिला के हथुआ थाना क्षेत्र के रेपुरा गांव के समीप मंगलवार की रात बरातियों को लेकर जा रही एक बोलेरो ने एक बाइक को टक्कर मार दी। इस हादसे में बाइक सवार एक छात्र की मौके पर ही मौत हो गई तथा एक अन्य युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के बाद बोलेरो चालक तथा उसमें बैठे बाराती मौके से फरार हो गए। इस बीच हादसे की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। मौके पर पहुंचे आक्रोशित ग्रामीणों ने बोलेरो फूंक दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को समझा कर शांत कराने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। घायल युवक का इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार रेपुरा गांव निवासी मोतीलाल चौधरी का 18 वर्षीय पुत्र पप्पू कुमार यादव हथुआ स्थित स्कूल में पढ़ता था। मंगलवार की रात पप्पू कुमार यादव अपने बीमार मवेशी का दवा लाने के लिए अपने ही गांव के निवासी अमरीश यादव के साथ बाइक से मिर्जापुर बाजार जा रहा था। इसी क्रम में रेपुरा-मिर्जापुर मुख्य मार्ग पर पीर बाबा के माजार के समीप सामने से आ रहे एक अनियंत्रित बोलेरो की चपेट में आने से मौके पर ही पप्पू यादव की मौत हो गयी। जबकि हादसे में गंभीर रूप से जख्मी अमरेश को अनुमंडलीय अस्पताल लाया गया। जहां से उसे रेफर कर दिया गया।

घटना की सूचना मिलते ही सैकड़ी की संख्या में आक्रोशित ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। घटना के बाद ड्राइवर के साथ बोलेरो पर सवार लोग वाहन छोड़ कर फरार हो गए। आकोशित लोगों ने मौके पर ही बोलेरो में आग लगा दी। जिससे बोलेरो पूरी तरह जल गया। लोगों ने पीड़ित परिवार के लिए मुआवजे की मांग को लेकर घंटों सड़क जाम किया। साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने से इनकार कर दिया। मौके पर पहुंच कर सब इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार राय व स्थानीय मुखिया ब्रजेश कुमार ने किसी तरह लोगों के आक्रोश को शांत किया। बाद में काफी मशक्कत के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया।

मृत युवक कुचायकोट के सिनियर सेकेंड्री स्कूल महुअवा में इंटर का छात्र था। युवक चार भाईयों में तीसरे नंबर पर था। परिवार की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय है। पूरे परिवार का भरण पोषण मेहनत व मजदूरी से ही चलता था। घटना की सूचना मिलते ही परिजनों पर आफत आन पड़ी। परिजनों के चीत्कार से माहौल गमगीन हो गया। बीमार गाय की दवा लाने के लिए बगल के 2 किमी दूर बाजार में जाना पप्पू को काफी महंगा पड़ा। पलभर में ही परिजनों को जिंदगी भर नहीं भूलने वाला गम मिल गया। आस-पास के लोग व रिश्तेदार मौके पर पहुंच कर पीड़ित परिवार को आश्वासन देते नजर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!