गोपालगंज के युवक ने पेश की इंसानियत की मिसाल, रेप पीड़ित मासूम की कर रहे है मदद

दुनिया में नेक इंसानों की कोई कमी नहीं है. उन्हें बस मौका मिलना चाहिए , किसी की मदद करने के लिए. ऐसा ही गोपालगंज का एक शख्श है परवेज आलम. जो बिना किसी लालच और दिखावे के ही जरूरतमंद लोगो की मदद करता है. परवेज आलम ने मौत से जूझ रही दुष्कर्म पीडिता को न सिर्फ आर्थिक मदद की. बल्कि उसे एक नया जीवनदान भी दिया.

सदर अस्पताल के महिला वार्ड में पड़ी नन्ही से मासूम की जिन्दगी अब खतरे से बाहर है. इस मासूम का उसके चाचा ही चाचा ने टॉफ़ी देने के बहाने रेप किया था. यह दुष्कर्म इस कदर वीभत्स था की 07 वर्षीय मासूम को लगातार ब्लीडिंग हो रहा था. जिसकी वजह से उसकी हालत गंभीर हो गयी थी. बेहद गरीबी से जूझ रहे इस पीड़ित परिवार के पास इलाज करवाने के लिए भी पैसे नहीं थे. जिला प्रशासन के द्वारा पीडिता को सदर अस्पताल के महिला वार्ड में भर्ती करा दिया गया था. लेकिन दवा से लेकर खाने के लिए भी पैसे का अभाव था.

30 वर्षीय समाजसेवी परवेज आलम के मुताबिक जेबी उन्हे सुचना मिली की 7 वर्षीय मासूम बच्ची का रेप हो गया है. जिसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस खबर के बाद वे सदर अस्पताल पहुचकर उन्होंने पीड़ित बच्ची के दादी से मुलाकात की. उन्हें हर संभव सहायता करने की बात कही. शहर के जंगलिया मोहल्ले के रहने वाले परवेज आलम के मुताबिक दुसरो की मदद करना उनका जूनून है. यही इंसानियत है.

मीरगंज के सवरेजी गाव की पीडिता की दादी के मुताबिक जब से उनकी पोती यहाँ सदर अस्पताल में भर्ती हुई है. तब से ये उनलोगों की मदद कर रहे है. पीड़ित परिजनों को यह भी नहीं पता कि मदद करने वाले का क्या नाम है. उसका कौम क्या है. बस उन्हें यह याद है की इस युवक ने दुष्कर्म पीडिता को खून उपलब्ध करवाने से लेकर उसके इलाज में खर्च होने वाले पैसे , खाने के लिए सामान सबकुछ उपलब्ध कराये. पीड़ित दादी के मुताबिक उनकी पोती को आज दूसरी जिंदगी मिली है तो इस युवक मदद के बदौलत. वही महिला वार्ड के दुसरे बेड पर अपने मरीज का इलाज करवाने आई मरीज के परिजन शबाना खातून के मुताबिक वे दो दिनों से अस्पताल में अपने परिवार का इलाज करवा रही है. वे भी लगातार देख रही है की यह युवक रोज खाने का सामान , पहनने के लिए कपडे , दवाइया सब कुछ उपलब्ध करा रहे है.

कहते ही इंसानियत लोगो के अन्दर मौजूद है. तभी जब इस मासूम को किसी अपनों ने अपनी हवस का शिकार बनाया. तब किसी गैर ने इसी इंसानियत के बदौलत उसे एक नयी जिन्दगी दी.

2 thoughts on “गोपालगंज के युवक ने पेश की इंसानियत की मिसाल, रेप पीड़ित मासूम की कर रहे है मदद

  • April 23, 2018 at 10:44 am
    Permalink

    PARVEZ BHAI THE GREAT WORK, THORI AWR HELP KARKE USKA CHACHA JO RAPIST HAI USKO V FANSI KI SAZA DILWAYEN,ALLAH ES BACHHI KO ACHHI SEHAT DE AAMEEN

    Reply
  • April 26, 2018 at 8:42 pm
    Permalink

    Insaaniyat ko sharmsaar kar dene Wali ye khabar ek sawaal hai hum sab ke saamne Ki hum kahan ja rahe hain… Jab insaan ke andar se insaniyat nikal jaye to Vo darinde se bhi badtar ho jata hai..
    Bravo Parwer Bhai… Allah will reward you in best way. May Allah shawer his blessings upon the innocent little girl.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!