गोपालगंज में स्वच्छ भारत अभियान के रक्षक ही बने भक्षक, शौचालय तोड़ बना मंच

गोपालगंज जिले के बैकुण्ठपुर प्रखण्ड के हकाम पंचायत के हकाम में स्थित राम जानकी मठ जो कि अयोध्या के छोटी छावनी के अधीन आता है। मठ के अंदर एक शोचालय था जिसे यज्ञ के नाम राजनीतिक मंच बनाने हेतु शौचालय को तोड़ दिया गया और वहा मंच बना दिया गया। जबकि सार्वजनिक सम्पति छेड़-छाड़ करने के लिए छोटी छावनी अयोध्या एवम गाँव के लोगो से एक प्रस्ताव पत्र बनाया जाता है और उस पर ग्रमीणों के रजामंदी एवम हस्ताक्षर करने के बाद ही कुछ करने का नियम चला आ रहा है। दबंगता दिखाते हुये कुछ 5 लोगो के द्वारा इस कार्य को कर दिया गया। सूचना मिलते ही ग्रामीणों ने इस मुद्दे पर आवाज बुलंद की एवम राम जानकी मठ हकाम के पूर्व अध्यक्ष मनिष ऋषी ने जब इस बाबत जानकरी हेतु प्रश्न एवम इस कार्य पर विरोध दर्ज किया तो बताया गया कि ध्वजा रोहण के बाद शैचालय का निर्माण कार्य किया जायेगा। ध्वजा रोहण के बीते महीनों होने को हैं परंतु अभी तक निर्माण कार्य प्रारंभ नही हो सका है।

शौचालय तोड़ने वाले लोग अब पल्ला झाड़ रहे हैं जो कि काफी दुःखद है और ये लोग अपने दबंगता दिखा कर ग्रमीणों को धमका रहे हैं और बोल रहे हैं कि नही बनेगा जिनको दिक्कत है ओ बनवाये। जब ग्रामीण इस मुद्दे को लेकर न्याय की बात किये तो उन लोगो द्वारा बोला गया की जा कर केश कर दे हम लोग समझ लेंगे।

आखिर किस प्रकार देश स्वच्छ भारत मिशन को सफलता मिलेगी जब इस कार्यक्रम के रक्षक ही भक्षक बने पड़े हैं। वर्त्तमान विधायक की चुपी भी इस मुद्दे पर एक अलग प्रश्न खड़ा करता है कि क्या सिर्फ आम लोगों की ही जिम्मेवारी है स्वच्छ भारत मिशन।
शैचालय टूट जाने के कारण जो बाबा मठिया में पूजा अर्चना करते थे और रात में मठ में सोते थे लेकिन उम्र अधिक होने के चलते रात में जब उन्हें शौच आदि के क्रिया के काफी दिक्कत हो रहा था तो ओ रात में मठ पर सोना छोड़ दिये हैं। अब रात कोई चोरी या किसी प्रकार की क्षति होती है तो इसकी जवाब देहि शौचालय तोड़ने वाले लोगों की ही होगी। जो मठ शुबह में 4 बजे खुल जाता था अब 6 बजे खुल रहा है। भगवान की पूजा अर्चना में भी बिलम्भ हो जा रहा है। जो कि काफी दुःखद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!