गोपालगंज के छवहीं एनएच 28 के किनारे कार्टन में रख कर फेंका गया नवजात का शव बरामद

भले ही ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ का नारा देकर सामाजिक बदलाव का हर संभव प्रयास किया जा रहा हो, लेकिन गोपालगंज में इसका असर कम है। ताजा मामला गोपालगंज के मांझा थानाक्षेत्र का है। जहां एक मां ने नवजात बच्चे को इसलिए सड़क के किनारे फेंक दिया क्योंकि वह बेटी थी। सड़क किनारे फेंके जाने से नवजात की मौत हो गयी। सड़क किनारे नवजात का शव पड़े होने की सूचना ग्रामीणों ने मांझागढ़ थाने की पुलिस को दी। शव देखने के लिए ग्रामीणों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी।

ग्रामीणों ने बताया कि छवहीं एनएच 28 के किनारे एक पुल के नीचे उसी गांव के कुछ युवक मंगलवार को टहल रहे थे। इस दौरान उन्हें एक कार्टन दिखा। कार्टन पर काफी खून लगा था। जब कार्टन को देखा गया तो उसमें एक नवजात बच्ची का शव रखा था। ग्रामीणों ने बताया की सुबह में नवजात के शव को देखने के बाद ही इसकी सूचना मांझागढ़ पुलिस को दी गयी। लेकिन थानाध्यक्ष के पहुंचने से पहले ही ग्रामीणों ने नवजात के शव को गड्ढे बना कर दफना दिया।

थानाध्यक्ष राजरूप राय ने बताया की ग्रामीणों द्वारा सुचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच जांच पड़ताल की तो पता चला वह नवजात बेटी थी। स्थानीय लोगों की मदद से बिना पोस्टमार्टम किये ही उसे मिट्टी में दफना दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!