गोपालगंज जेल में बंद विधवा बहन को न्याय देने के लिए ठोकर खाने को मजबूर भाई

गोपालगंज के जादोपुर थाना के निरंजना गांव निवासी रामजी सिंह अपनी विधवा बहन को न्याय दिलाने के लिये दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है. लेकिन कहीं से भी उन्हें न्याय की उम्मीद नही दिख रहा है .पीड़ित भाई जेल में बंद अपनी बहन को न्याय दिलाने के लिए जिले के एसपी से लेकर सीएम नीतीश कुमार तक अपनी गुहार लगा चुका है.

रामजी सिंह अपनी पत्नी और भाई के साथ लगातार कलेक्ट्रेट का हाजिरी लगा रहे हैं.  शायद कहीं से भी जेल में बंद इनकी बूढी और लाचार विधवा बहन को न्याय मिल जाए. हत्या के झूठे मुकदमे में फंसाकर इनकी बहन को जेल में बंद कर दिया गया है.

मामला के बारे में आपको बताये की यह घटना भोरे थाना के हरदिया गांव का है. जहाँ रामाजी सिंह की 65 वर्षीय बहन फुलझरिया कुंवर जो कि विधवा है. पीड़िता के भाई के मुताबिक फुलझरिया कुंवर की पटीदार और पडोसी सुग्रीव सिंह की मां की संदिग्ध मौत हो गयी थी. जिसके आरोप में सुग्रीव सिंह ने अपनी चाची को ही आरोपी बनाकर मामला दर्ज करा दिया .पुलिस के मामला न दर्ज करने से पड़ोसिओ ने मामले को गोपालगंज सीजीएम कोर्ट में दर्ज कराया.

कोर्ट में मामला दर्ज होने के बाद न्यायालय ने भोरे थाना को कांड संख्या 281/17 में मामला दर्ज करने व  विधवा फुलझरिया देवी को गिरफ्तार करने का आदेश दिया. हत्या के इस झूठे मामले में अपनी बूढी बहन को न्याय दिलाने के लिए रामाजी सिंह पिछले दो सप्ताह से जिले के आला पदाधिकारो से न्याय की गुहार लगा रहे है. ग्रामीणों के मुताबिक भी यह मुकदमा झूठा है . लेकिन शायद प्रशासन को यह नही दिख रहा है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!