गोपालगंज में बोलेरो ने धक्का मारकर दो दोस्तों को उतारा मौत के घाट

गोपालगंज जिला के माझा थाना क्षेत्र के झझवा गांव निवासी 67 वर्षीय जनक राय और कोइनी निवासी 50 वर्षीय गिरजा भगत दोनों मित्र एक साथ टहलते टहलते दूध लेने जा रहे थे। इसी बीच मोहम्मद पुर से तेज रफ्तार से आ रही बोलेरो ने दोनों मित्रों को धक्का मार दिया जिससे घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गई। घटना के बाद बोलेरो चालक गाडी लेकर मौके पर से भागने लगा जिसे पकड़ने के लिए दर्जनों ग्रामीणों ने गाडी का पीछा किया। इसी बीच कोइनी ओवर ब्रिज पर बोलेरो का चक्का ब्लास्ट हो जाने के गाडी वही रूक गयी और गाडी चालक गाडी छोड़ मौके पर से फ़रार हो गया।घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने एनएच 28 को घंटो जाम कर दिया।

घटना की सूचना मिलते हैं मांझा थानाध्यक्ष राज रूप राय अपने दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मृतक के परिजनों और ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया तथा दोनों के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गोपालगंज भेजा दिया।

गौरतलब है की घटना से दो घरों में मातम छा गया। जनक राय की पत्नी आशा सुपरवाइजर कुसुम देवी तथा घरवालों का रो-रो कर बुरा हाल है। जनक राय ही परिवार के देखभाल करते थे। आज से 13 वर्ष पूर्व हरखुआ शुगर मिल से 40 वर्ष के उम्र में ही सेवानिवृत्त कर दिया गया था। सेवानिवृत्ति हो जाने के बाद परिवार की स्थिति दयनीय हो गई थी, जिससे इनकी पत्नी आशा कार्यकर्ता का काम करने लगी और 2 पुत्र गजेंद्र राय और विजेंद्र कुमार प्राइवेट फैक्ट्री में दिल्ली में रहकर काम करते हैं। जिससे परिवार का पालन पोषण चलता है। वहीं दूसरी तरफ कोईनी गांव के गिरिजा भगत सब्जी बेचकर अपने और अपने पत्नी आशा देवी और पुत्र मुन्ना कुमार का परवरिश करते थे। आज इस घटना से प्रताड़ित पत्नी-पुत्र का रो-रो कर हालत खराब है। दोनों मृतकों की दोस्ती का मिसाल पूरे इलाके में थी। वही भगवान की भी महिमा, दोनों जिए भी साथ साथ और दोनों दोस्तों की मृत्यु भी एक साथ ही हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!