शिवहर में सीएम के आगमन से पहले डीडीसी, एसडीओ व विधायक का किया गया पुतला दहन

शिवहर: जनतंत्र जनता के शासन के कहा जाता हैं लेकिन जब तंत्र जब जन की बात मानने से इन्कार कर दे शासक निरंकुश हो जाए और मनमाना निर्णय लेने लगें तो क्रांति का आगज होता हैं हम बात कर रहें सुरगाही के घटना क्रम की जहाँ ग्रामीण लगाता मुख्यमंत्री के सभा स्थल बदलने की मांग कर रहें थे लेकिन जिला प्रशासन के इस मुद्दे पर गंभीर न होता देखे आज ग्रामीणो ने विधायक का पुतला दहन कर अपनी आक्रोश की अभिव्यक्ति से शासक और प्रशासक को अवगत कराया साथ ही चेतावनी भी दिया जनता के बाद तो इसी तरह नजरअंदाज किया जाता रहा तो आंदोलन और भी तेज होगा  सुरगाही में हो रहे हैं मुख्यमंत्री का जनसंपर्क यात्रा के विरोध में ग्रामीणों में भारी आक्रोश है. लोगो का कहना हैं जिलाधिकारी की अनुपस्थिति में प्रभारी जिलाधिकारी ने कार्यक्रम स्थल का चुनाव किया. कार्यक्रम के लिए एक ऐसा स्थल का चुनाव किया का जो पंचायत से बहुत दूर है. वहां पर पहुंचने के लिए ग्रामीणों को 5 किलोमीटर घूम कर जाना पड़ेगा. ग्रामीणों का मांग है सभा के लिए स्थल पंचायत के बीचों-बीच का होना चाहिए. लेकिन सभा का स्थल जनता के मनो भावना को ठेस पहुंचाने के लिए मुखिया के घर के सामने सभास्थल रखा गया है. जिसमें DM का अनुपस्थिति में बनाए गए डीएम और विधायक के सहमति से सभा स्थल का चुनाव किया गया. यहां की जनता मुख्यमंत्री का विरोध नहीं कर रहा है. जनप्रतिनिधियों के द्वारा चुने गए सभास्थल का विरोध कर रहा है. मुख्यमंत्री जी के कार्यक्रम में यहां के लोगों ने हमेशा से बढ़ चढ़कर भाग लिया है. और वर्तमान विधायक को यहां की जनता का भारी समर्थन के कारण ही इस पंचायत से लीड हुए. लेकिन एक बार भी यहां के आमजन से बिना सहमति के सभास्थल का चुनाव किया गया. सभा स्थल को लेकर जनता भारी आक्रोश है. आपको बता दें की मुख्यमंत्री से इतना लगाव है लोगों का की मुख्यमंत्री का कार्यक्रम में लोग नहीं जाएंगे. लेकिन चौधरी मार्केट पर सभी लोग इकट्ठा होकर लाइव भाषण को सुनेंगे. विरोध मुख्य-मंत्री का नहीं है यहां के जनप्रतिनिधियों का है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!