गोपालगंज : पकिस्तान से मिले आदेश पर एलइटी एजेंट का मददगार बनता था धनु राजा

गोपालगंज जिले में मिले लस्कर के कनेक्शन से परेशान सुरक्षा एजेंसीयां रोजाना एक के बाद एक परत खोलती जा रही है . सीमावर्ती इलाके से सटे इस जिले में पिछले दो वर्षो से खुलेआम लश्कर एजेंट घूम कर अपनी योजनाओ को अमलीजामा पहनाने में जुटा था .

बता दे की 28 नवंबर को लखनऊ से गिरफ्तार लश्कर एजेंट अब्दुल नईम शेख से धन्नू राजा के संबंध में खुफिया व सुरक्षा एजेंसियों को जानकारी मिली थी। शेख के पास से ही जांच एजेंसी एनआईए को भारतीय सेना और देश के कई हाइड्रो पॉवर प्रोजेक्ट के नक्शे व तस्वीरें बरामद की गई थी। जिसके बाद एनआईए की टीम ने धनु राजा नगर थाने के जादोपुर चौक के पास से गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तारी के बाद एनआईए की टीम जिले में 4 दिनों तक रहकर एक-एक पहलुओं की बारीकी से जांच करने के बाद कई खुलासे किया हैं.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक जिस लश्कर एजेंट अबू नईम शेख उर्फ़ सोहेल खान को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया था. इसके पूर्व वह दिसम्बर 2014 से गोपालगंज में सोहेल खान बनकर रह रहा था. यहां उसने स्थानीय युवक प्रशांत कुमार राय के साथ मिलकर इंग्लिश कोचिंग सेंटर चलाता था.

सूत्रों के मुताबिक नईम शेख को किसी बबलू नाम के व्यक्ति ने गोपालगंज में रहने से लेकर हर कुछ उपलब्ध कराया था. सूत्रों के मुताबिक बबलू नाम के व्यक्ति को पाकिस्तान के लश्कर के किसी आका से फोन कॉल आये थे. उसी फोन कॉल के बाद नईम शेख को गोपालगंज में रहने की वयवस्था की गयी थी.

अब इस बात का खुलासा हो गया है कि जिस बबलू नाम के व्यक्ति की एनआइए को तलाश थी. वह कोई और नहीं बल्कि धनुराजा ही था. यह कोड वर्ड लश्कर के पाकिस्तान टीम के पास धनु राजा के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

यहां बता दें कि अबू नईम शेख ने सोहेल खान के नाम से गोपालगंज में अपना वोटर कार्ड, आधार कार्ड , ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक खाता और पासपोर्ट भी बनवा रखा था. पासपोर्ट में दो स्थानीय युवक उसके पहचानकर्ता बने थे. इसको लेकर भी सुरक्षा एजेंसिया हर पहलू की जांच कर रही है.

आरोप भी है कि धनु राजा और सोहेल खान के बैंक खाते में बहुत बड़ी रकम गोपालगंज में मंगवाई गयी थी. इसके अलावा हवाला के जरिये भी बड़ी रकम यहां मंगवाए थे. इन पैसो का कहां कहां इस्तेमाल हुआ है. इसको लेकर एनआईए की टीम जांच कर रही है. इस संबंध में कई बैंक मेनेजर्स, वेस्टर्न यूनियन संचालक और स्थानीय लोगों, पदाधिकारियों से पूछताछ की गयी है.

हालांकि धनु राजा के नाना मोहमद इब्राहीम पहले बार मीडिया के सामने आये. उन्होंने अपने पोते धनुराजा को बेगुनाह बताया हुई. मोहम्मद इब्राहीम के मुताबिक धनु राजा के बैंक खाते में कोई बड़ी रकम नहीं आई है. पूरे खाते की जांच की जाए. अगर बड़ी रकम खाते में आई है. तो पूरे मामले की जांच कर अगर धनु दोषी है. तो उसके खिलाफ कारवाई की जाए.

उन्होंने कहा की उनके घर पर कोई भी अनजान व्यक्ति कभी मिलने या खाने नहीं आया. उनके पोते को साजिश के तहत फंसाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!