हॉस्टल से सस्पेंड करने पर दलित छात्र ने की खुदकुशी

हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एक दलित छात्र के खुदकुशी मामले में पीड़ित परिवार विश्वविद्यालय परिसर के बाहर धरने पर बैठा है। वी रोहित ने खुदकुशी कर ली थी। वी रोहित उन 5 दलित छात्रों में से एक है जिन्हें उनके हॉस्टल से सस्पेंड किया गया था।

वी रोहित गुंटूर ज़िले का रहने वाला था और सोशियोलॉजी में पीएचडी कर रहा था। रोहित के शव को छात्रों के भारी विरोध के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर ने कहा कि हालात पहले से नियंत्रण में है। विरोध कर रहे छात्रों ने आरोपियों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करने की मांग की।

छात्रों ने केंद्रीय मंत्री बंडारु दत्तात्रेय के खिलाफ उत्पीड़न का मामला दर्ज करने की मांग की। छात्रों का आरोप है कि दत्तात्रेय ने मानव संसाधन विकास मंत्री को पत्र लिखकर छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा था।

राष्ट्रीय अनुसूचित( जाति/जनजाति) आयोग के अध्यक्ष पीएल पुनिया आज हैदराबाद जाकर छात्रों से मुलाकात करेंगे। गौरतलब है कि कल यूनिवर्सिटी के एक दलित छात्र ने खुदकुशी कर ली है, जिसके बाद छात्र कॉलेज के परिसर में लगातार प्रदर्शन करके अपना विरोध जता रहे हैं।

रोहित अंबेडकर स्टूडेंट यूनियन से जुड़ा था उसे 12 दिन पहले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेताओं पर हमले के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया था। इन छात्रों के समर्थन में 10 संगठनों ने रविवार को रिले भूख हड़ताल की थी और इनका सस्पेंशन वापस लेने की मांग कर रहे थे।

इन छात्र संगठनों का कहना है ये छात्र सामाजिक बहिष्कार के शिकार हैं। तेलंगाना के सभी छात्र संगठनों ने रोहित की आत्महत्या के बाद आज बंद बुलाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!