ब्रिटिश शासन से भी बदतर था इंदिरा गांधी का शासन

बिहार सरकार की एक वेबसाइट पर इंदिरा गांधी के शासन को ब्रिटिश शासन से भी बदतर बताया गया है, जिसके कारण राज्य में गठबंधन सरकार में शामिल कांग्रेस की भौंहें तन गई है।

बिहार के इतिहास पर लिखी समीक्षा में इंदिरा गांधी के ‘‘निरंकुश शासन’’ और आपातकाल के समय बढ़े ‘‘दमन’’ का हवाला दिया गया है।

इसमें आधुनिक भारत को बनाने में जय प्रकाश नारायण के योगदान को सराहा गया है, जिसमें कहा गया है कि जे पी नारायण ने ही इंदिरा गांधी के निरंकुश शासन और उनके बड़े बेटे संजय गांधी का विरोध किया था।

समीक्षा में भारत के आधुनिक इतिहास में जय प्रकाश नारायण (जेपी) के योगदान का उल्लेख करते हुए कहा गया है, ‘‘यह जेपी ही थे जिन्होंने निरंतर और मजबूती से इंदिरा गांधी के निरंकुश शासन और उनके छोटे बेटे संजय गांधी का विरोध किया था।’’

इसके अनुसार, ‘‘उनके (जेपी के) विरोध पर लोगों की प्रतिक्रिया से डरकर ही इंदिरा गांधी ने 26 जून 1975 को आपातकाल की घोषणा करते हुए उन्हें गिरफ्तार करवा दिया था। उन्हें दिल्ली के पास स्थित उस तिहाड़ जेल में रखा गया था जहां कुख्यात अपराधियों को रखा जाता है।’’

इससे नाराज राज्य कांग्रेस के नेता चंदन यादव ने कहा कि यह उल्लेख पूर्णतया ‘‘अस्वीकार्य’’ है और उनकी पार्टी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष यह मुद्दा उठाएगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इसकी जांच की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!