मालदा हिंसा : BJP की 3 सदस्यीय जांच टीम को हिरासत में लिया गया

मालदा के हिंसाग्रस्त व तनावग्रस्त इलाकों का आज दौरा करने पहुंची BJP की तीन सदस्यीय टीम को हिरासत में ले लिया गया है। एसएस आहलूवालिया भी हिरासत में लिए गए है।

सूत्रों के मुताबिक, इन्हें रेलवे स्टेशन पर ही रोक लिया गया है। इस दौरान आहलूवालिया ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा। उनके मुताबिक, ममता कुछ भी कर सकती हैं।

BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मालदा कांड की सही जानकारी और तथ्यों का पता लगाने के लिए पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व की तीन सदस्यीय जांच टीम गठित की थी। इसमें पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद भूपेंद्र यादव, सांसद एसएस अहलूवालिया और बीडी राम को भी शामिल किया गया था। यह टीम मालदा के हिंसाग्रस्त व तनावग्रस्त इलाकों का दौरा करने के बाद अमित शाह को रिपोर्ट सौंपेगी।

वहीं, पश्चिम बंगाल के मालदा में एक हफ्ते पहले हुई कालियाचक हिंसा के विरोध में रविवार को हिंदू संगति सभा की तरफ से आयोजित कार्यक्रम को पुलिस ने नहीं होने दिया। पुलिस ने सभा के नेता जितेंद्र चौधरी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां से उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया।

बताया जा रहा है कि हिंदू संगति सभा ने कालियाचक कांड के विरोधस्वरूप सोशल मीडिया पर एक पोस्टर पोस्ट कर विरोध सभा आयोजित होने की जानकारी दी थी। पुलिस को इसका पता चला तो उसने पोस्टर में दर्ज फोन नंबर पर कॉल करके जितेंद्र चौधरी को गाजोल थाने बुलाया। शनिवार दोपहर वह अपने तीन साथियों के साथ थाने पहुंचे।

पुलिस ने थाने में ही चारों को रोक लिया और अ‌र्द्धरात्रि दो बजे के करीब तीन को छोड़ दिया और जितेंद्र को गिरफ्त में लेकर रविवार को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया। इस संबंध में एसपी प्रसून बनर्जी ने बताया कि जितेंद्र चौधरी के विरुद्ध सोशल मीडिया में गलत टिप्पणी करने का आरोप था जिस कारण उन्हें गिरफ्तार किया गया।

गौरतलब है कि हिंदू महासभा के स्वयंभू नेता कमलेश तिवारी द्वारा पैगंबर मोहम्मद के बारे में दिए गए विवादास्पद बयान के विरोध में मालदा में करीब ढाई लाख मुस्लिम प्रदर्शनकारी सड़क पर उतर आए थे। कालियाचक थाने पर हमला बोल उन्होंने दो दर्जन वाहनों को फूंक दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected By Awaaz Times !!