गोपालगंज के बैकुंठपुर में मे स्वच्छता अभियान के मार्च मे दो किशोर समेत एक महिला झुलसी

गोपालगंज जिले के बैकुण्ठपुर प्रखंड के सिंहासिनी गांव मे स्वच्छता अभियान मिशन के लिए वृहस्पतिवार की संध्या कैंडल मार्च का आयोजन किया जानाथा, परन्तु समन्वयक आलोक कुमार ने डिबरी मार्च करा दिया जिसमे एक आशा कार्यकर्ता सहित कक्षा सात और आठ के दो छात्र बुरी तरह झुलस गये. विटु कुमार की स्थिति गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने उसे पीएमसीएच रेफर कर दिया है.

घटना के बारे में बताया जाता है की जिला के बैकुंठपुर प्रखंड के सिंहासिनी गांव में स्वच्छता अभियान मिशन के जागरूकता हेतु समन्वयक आलोक कुमार के नेतृत्व में एक कैंडिल मार्च निकालना था. एक नया प्रयोग करने के नियत से आलोक कुमार ने कैंडिल मार्च की जगह ढिबरी मार्च निकाल दिया. ढिबरी मार्च के दौरान अचानक ढिबरीयां फफक पड़ी और मार्च में शामिल सुनीता देवी नामक आशा कार्यकर्ता समेत दो छात्र 12 वर्षीय विटु कुमार और 10 वर्षीय गोलू कुमार आग की चपेट में आ गए. जिसमे ये तीनों लोग बुरी तरह झुलस गये. घटना के तुरंत बाद वहां अफरा-तफरी मच गई. स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से झुलसे सभी को बैकुंठपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया गया जहाँ से विटु कुमार की हालत गंभीर देखते हुए उसे पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया गया. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विटु कुमार की हालत अभी भी चिंताजनक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!