शिवहर नरकटिया गांव के बाढ प्रभावितो का कोई नहीं है सुध लेने वाला

शिवहर: जिला प्रशासन लाख दावा करें, सांसद-विधायक कितना भी भ्रमण करें परंतु जिले के पिपराढी प्रखंड के बेलवा पंचायत के सबसे इस जिले का बाढ प्रभावित गांव नरकटिया गांव का कोई सुध लेने वाला आज तक नहीं है.उक्त संबोधन बेलवा पंचायत के नरकटिया गांव निवासी दुखन सहनी ,तूफानी सहनी, संतोष साहनी, मोलीसर देवी, छोटे लाल सहनी, अच्छेलाल साहनी, मंजू देवी, विनोद सहनी मनोज सहनी, मु०कौशल्या देवी, मंजू देवी ,मुसंफी साहनी, रामबाबू सहनी, बिरजू सहनी, इंदल साहनी, सहित सैकड़ों लोगों ने आज राष्ट्रीय सहारा व सीटी लाईव को विशेष बाढ प्रभावित क्षेत्र के समाचार संकलन के दौरान उक्त बातें कही है

उन्होंने बताया कि सबसे बुरा प्रभावित हमारा ही गांव है बेलवा घाट के सामने नरकटिया गांव निवासी मात्र 100 फीट की दूरी पर उक्त गांव है जहां 1100 आबादी वाले क्षेत्र में 500 घर है जहां पर 400 घर बाढ के चपेट में आ गए तथा बह गए हैं तथा गिर गये. उक्त गांव के लोगों ने बताया कि मात्र 300 परिवारों को ही चुरा चीनी एवं एक पॉलिथीन का वितरण किया गया है उसके अलावा पीड़ित ग्रामीण वासियों ने बताया है कि अब तक अंचल अधिकारी के अलावा कोई भी प्रशासन यहां सुध लेने तक नहीं आया.एक प्रश्न के जवाब में बाढ़ पीड़ितों ने बताया कि नरकटिया गांव से सिंगरहिया बाढ़ राहत कैंप शिविर तकरीबन 5 किलोमीटर था जिस कारण जाने आने का कोई सुविधा नहीं रहने के कारण नरकटिया गांव के एक भी लोग नहीं जा सका ब्लीचिंग पाउडर के सवाल पर उन्होंने बताया कि सिर्फ चुरा और चीनी एवं प्लास्टिक के अलावा कोई भी राहत सामग्री इस गांव में अब तक नहीं पहुंच सका है

जबकि लोगों ने बताया कि तकरीबन 2 दिनों तक गांव के किसी ऊंचे स्थान पर भूखे प्यासे रहे.गांव में चापाकल भी डूब जाने के कारण पानी पीने के लिए जान पर हथेली रखकर लोग जाते आते रहे हैं अभी भी उक्त गांव की दयनीय स्थिति बुरा रहने के कारण जदयू के प्रदेश के पूर्व संगठन प्रभारी अवध किशोर प्रसाद ने बाढ़ पीड़ितों का प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर उक्त पीड़ित परिवारों से आश्वासन दिया है कि शीघ्र ही आप लोगों को जिला प्रशासन की तरफ से राहत पहुंचेगा

जदयू के वरीय नेता अवध किशोर प्रसाद ने बताया है कि जिला प्रशासन एवं जिले के जनप्रतिनिधिगण वैसे जगह पर कैंप लगाया था जहां पर बाढ़ पीड़ितों के लिए उपयुक्त जगह नहीं था.सभी लोग सिर्फ मीडिया में छाए रहने तथा फोटो खिंचवाने में मशगूल रहे हैं उन्होंने बताया है कि इस बावत शीघ्र जिला पदाधिकारी राजकुमार से मिलकर वहां की स्थिति को अवगत कराते हुए शीघ्र बाढ़ राहत पहुंचाने की मांग करेंगे अगर शीघ्र नहीं बाढ राहत नही मुहैया कराया गया तो मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर नरकटिया गांव में किए जा रहे पक्षपात की जांच करवाने की मांग करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!