पहलाज निहलानी का स्मृति ईरानी पर आरोप – स्मृति ईरानी की वजह से गयी मेरी कुर्सी

हाल ही में सेंसर बोर्ड के चेयरपर्सन के पद से हटाए गए पहलाज निहलानी का विवादों से चोली दामन का साथ है. ताजा मामले में उन्होंने मौजूदा सरकार पर हमला बोल दिया है.

निहलानी ने पद से हटाए जाने का ठीकरा केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी पर फोड़ा है. लहरें टीवी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने आरोप लगाया कि पद से हटाने के पीछे केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी का हाथ हैं.

निहलानी ने कहा, ‘सरकार ने मुझ पर दबाव बनाया कि मैं मधुर भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ को बिना किसी कट के पास कर दूं. मैंने ऐसा करने से मना किया, इसलिए पद से हटाया गया.’

सेंसर बोर्ड के पूर्व चेयरपर्सन पहलाज निहलानी के आरोपों का सिलसिला यहीं नहीं रुका, उन्‍होंने पिछले साल आयी फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ को लेकर हुए विवाद में भी कई खुलासे किये.

उन्होंने कहा, ‘2016 में रिलीज हुई फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ के लिए भी मुझ पर दबाव बनाया गया कि मैं उसे पास ना करूं. क्योंकि फिल्म पंजाब में चल रहे ड्रग्स रैकेट पर बनी थी. पंजाब में चुनाव सिर पर थे और वहां बीजेपी-अकाली के गठबंधन वाली सरकार थी.’

अनुराग कश्यप के बारे में पहलाज ने दावा किया कि वह जानबूझकर अपनी फिल्मों को लेकर विवाद खड़ा करते हैं. इससे उनकी फिल्‍मों की पब्लिसिटी हो जाती है.

सीबीएफसी के नये चेयरपर्सन प्रसून जोशी को एक नेक इंसान बताते हुए निहलानी ने कहा कि उन्होंने कांटों का ताज पहना है, जिसकी चुभन का एहसास उनको जल्दी होना शुरू हो जाएगा.

आपको बता दें कि 2017 में 19 जनवरी को निहलानी का टर्म खत्म होने वाला था पर उन्हें पद से हटाकर 11 अगस्त को गीतकार प्रसून जोशी को अध्यक्ष बनाया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!