कलिंग उत्कल एक्सप्रेस हादसे में 23 की मौत, डिब्बे काट कर निकाले गए कई यात्री

उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर जिले के खतौली थानाक्षेत्र में शनिवार को कलिंग उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई.इसमें 100 से ज्यादा यात्रियों के घायल होने की खबर है.वहीं, यूपी पुलिस के मुताबिक कम से कम 23 लोगों की मौत हो गई है.. अधिकारियों के मुताबिक 14 डिब्बे पटरी से उतरे हैं. रेलवे के सूत्रों के मुताबिक, हादसे में कई लोगों के मारे जाने की भी आंशका है. जिले के आला अधिकारी घटनास्थल पर पुहंच गए हैं और राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है.  यह रेलगाड़ी पुरी से हरिद्वार जा रही थी.

रेलवे ने मृतकों के लिए 3.5 लाख व घायलों के लिए 50 हजार रुपये और मामूली रूप से घायलों को 25 हजार के मुआवजे का ऐलान किया है. जबकि प्रशांत कुमार (एडीजे, मेरठ) ने 12 लोगों की मौत की पुष्टि की है. फिलहाल, डिब्बे को कटर से काटकर घायलों और वहां फंसे हुए लोगों को बाहर निकाला जा रहा है.

यह ट्रेन पुरी से हरिद्वार जा रही थी. घटना मुजफ्फरनगर के खतौली के पास शाम करीब 5.50 बजे हुई.

घटना कैसे हुई, इस बारे में अभी विस्तृत जानकारी नहीं मिल सकी है. लेकिन सूचना है कि पटरी से ट्रेन के उतरने से पहले एक धमाका भी सुना गया था. हालांकि, इसकी अभी पुष्टि नहीं हुई है.

इस बीच रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. परिजन 9760534054, 5101 पर फोन कर जानकारी हासिल कर सकते हैं.

रेलवे के सूत्रों के मुताबिक, हादसे में कई लोगों के मारे जाने की भी आंशका है. जिले के आला अधिकारी घटनास्थल पर पुहंच गए हैं और राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है.

घटनास्थल पर पटरी टूटी पाई गई है. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, हादसे के बाद डिब्बे एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गए.

रेलवे के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक, इस हादसे के पीछे साजिश से भी इनकार नहीं किया जा रहा है, क्योंकि पटरी टूटी हुई मिली है.

कानपुर के पास पुखरायां में भी पिछले साल इसी तरह का हादसा हुआ था. इसमें पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ सामने आया था. एनआईए इसकी जांच कर रही है.

*  यूपी पुलिस ने 23 लोगों के हादसे में मौत की पुष्टि की. यूपी पुलिस ने हालांकि पहले घायलों की संख्या 400 बताई थी. लेकिन बाद में कहा कि गलत लिस्ट जारी हो गई है. यूपी पुलिस के मुताबिक 40 घायल हैं.

* यूपी प्रिंसिपल सेक्रेटरी (गृह मंत्रालय) अरविंद कुमार ने कहा- 11 शव और 65 घयलों को खतौली हॉस्पिटल लाया गया है.

# अंधेरे के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत आ रही हैं. मेडिकल टीम सहित एनडीआरएफ की टीम भी घटनास्थल पर बचाव कार्य में जुटी

# राष्ट्रपति रामनाथ कोविंग ने रेल हादसे पर जताया दुख, ट्वीट कर लिखा- ‘उत्तर प्रदेश में हुए रेल हादसे से दुखी हूं. मेरी संवेदनाएं इस घटना से प्रभावित लोगों के साथ है. घायलों को मदद पहुंचाई जा रही है और बचाव कार्य जारी है.’

*  एडीजे, मेरठ के मुताबिक, हादसे में करीब 12 लोगों की मौत हो गई है.

* रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्रेन हादसे में मरने वालों के परिजनों के लिए 3.5 रुपये मुआवजे की घोषणा की. गंभीर रूप से घायल लोगों के लिए 50 लाख रुपये जबकि मामूली रूप से घायलों के लिए 25 हजार रुपये मुआवजे की घोषणा

*  मुजफ्फरनगर रेल हादसे पर पीएम मोदी ने जताया दुख, ट्वीट कर कहा- रेलवे मंत्रालय और यूपी सरकार हर संभव मदद पहुंचाने का प्रयास कर रही है. मेरी संवेदनाएं लोगों के साथ हैं.

* रेलवे ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर- 9760534054. यहां फोन करके परिजनों के बारे में जानकारी ली जा सकती है.

रेलवे के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक, इस हादसे के पीछे साजिश से भी इनकार नहीं किया जा रहा है, क्योंकि पटरी टूटी हुई मिली है.

हादसे के बारे में उप्र के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया, कि अभी यह कह पाना मुश्किल है कि कितने लोग हताहत हुए हैं. हादसे कैसे हुआ इसकी जांच रेलवे की तरफ से की जाएगी. सभी सरकारी और निजी एंबुलेंस को जल्द से जल्द घटनास्थल पर ले जाने का आदेश दिया गया है.”ज्ञात हो कि कानपुर के पास पुखरायां में भी पिछले साल इसी तरह का हादसा हुआ था. इसमें पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ सामने आया था. एनआईए इसकी जांच कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!