गोपालगंज के गंडक का बढ़ा जलस्तर, वाल्मीकिनगर बराज से 4.45 लाख क्यूसेक छोड़ा पानी

बिहार और नेपाल में भारी बारिश के बाद गंडक के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। वाल्मीकिनगर बराज से 4 लाख 45 हजार आठ सौ क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद गोपालगंज में गंडक का जलस्तर बढ़ गया है। जलस्तर बढ़ने के साथ ही तटबंधों पर दबाव बढ़ने के साथ ही जिले के कई प्रखंडों के दियारा इलाके वाले गांवों में पानी तेजी से फैल रहा है। गंडक के जलस्तर बढ़ने से सबसे ज्यादा इस समय सदर प्रखंड का जगरीटोला पंचायत प्रभावित हुआ है। जगरीटोला गांव के 4, 5, 6 वार्डो की सड़कों पर बाढ़ का पानी बहने लगा है। गांव की खेतों में गंडक का पानी लगातार बढ़ रहा है। जिसकी वजह से धान और गन्ने की फसल पानी में डूब गए हैं। जगरीटोला का पंचायत भवन में पूरी तरह पानी लग गया है। जागीरी टोला गांव के सरकारी मीडिल स्कूल भी पानी में डूब गया है। जिला प्रशासन ने बांध के निचले इलाके में रहने वाले को उचे स्थान पर जाने का आदेश दिया

इसके पहले कई सरकारी स्कूल के भवन एक-एक कर गंडक में विलीन हो गए हैं। जिससें इस पंचायत के लोगों में भय बना हुआ है, कि कभी भी पंचायत भवन नदी के गर्व में समा सकता है। रामनगर गांव के हाईस्कूल आठ दिन से बंद है। एक दर्जन गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। मलाही टोला,खाप, मकसूदपुर, बकुआ, पूर्वी मलाही टोला, पश्चिमी मलाही टोला सहित आधा दर्जन गांवों के सड़कों पर दो से तीन फीट पानी लग जाने से जनजीवक पर असर पड़ा है।

सातवें क्लास कि रौशनी कुमारी, अंजू कुमारी, पल्लवी कुमारी, नंदनी कुमारी कहती है है स्कूल बंद होने के कारण पढ़ाई तो बाधित हो ही रहा है साथ साथ विद्यालय में मिलने वाले मध्यान्ह भोजन भी बंद है जिस कारण आधे पेट खाना मिल रहा है। दसवीं के छात्र अंकु कुमार, राहुल कुमार, सैप अली, महमद मुरसिद, बदल कुमार, अफताब आलम ने बताया कि रामनगर हाई स्कूल में तीन से चार फीट पानी लगा हुआ जिस कारण विद्यालय बंद है। इन छात्रों का कहना है कि बाढ़ आते है गांव में पानी दो से तीन फीट तक लग जाता है। विद्यालय बंद होने से पढ़ाई बाधित है और मैट्रिक का परीक्षा देने तक कोर्स भी पूरा नहीं हो पता है। रामनगर से जागीरी टोला गांव जाने वाली सड़क पर दो से तीन फीट पानी लगा हुआ। आने जाने वाले लोग कपड़ा उतार कर आ जा रहे है।

गंडक के जलस्तर के निरीक्षण करने के बाद अंचल पदाधिकारी कृष्ण मोहन ने रविवार को बताया कि जागीरी टोला में गंडक नदी के जलस्तर का सबसे ज्यादा प्रभाव है जिसके वार्ड 4,5,6,7,में पानी गया है। रामनगर गांव के पास संपर्क पथ पर तीन से चार फीट पानी लग गया है जिसके लिए सरकारी नाव चलाई जा रही है। उन्होंने बताया कि जागीरी टोला और रामनगर में सरकारी विद्यालय में पानी लग गया है जिस कारण विद्यालय बंद किया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार से मिलने वाले सभी सुविधा दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!