गोपालगंज में भी पहुँचा चोटीकटवा गिरोह, जिला में अलग-अलग जगहों पर दो महिलाएं हुई शिकार

देश और दुनिया मे महिलाओं की चोटियों को काटे जाने की खबर ने लोगों को हैरत में डाल रखा है और देश के कई हिस्सों में अदृश्य हजाम को ढूढने के लिए लोग पहरा तक देने लगे हैं। इसी बीच गोपालगंज जिला के अलग-अलग क्षेत्रों में दो महिलाओ के चोटी काटने की घटना सामने आने से पुरे इलाके के महिलाओ के बिच दहशत का माहौल है। इस घटना के बाद क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म है।

पहली घटना जिला के फुलवरिया थाना क्षेत्र के दुलारपुर गाँव की है जहाँ रामध्यान सिंह की 60 वर्षीय पत्नी अतवरिया देवी रात में खाना खाकर घर के बाहर द्वार पर चारपाई पर सोई हुई थी। मध्य रात्रि में किसी ने आकर उनकी चोटी काट दिया। जिससे वह बेहोश गई। अतवरिया देवी का कहना है कि जब मैं खाना खाकर अपने दरवाज़े पर सोने गई। जैसे ही नींद लगी थी कि बड़ा मुँह और काला चेहरा दिखाई दिया। उसके बाद मै डर गई। उस वक़्त मुझे ऐसा महसूस हुआ की किसी ने मेरी चोटी काट लिया है। उसके बाद मेरे शरीर में बेचैनी और सीने में दर्द होने लगा जिससे मैं बेहोश हो गई। कुछ देर के बाद जब मुझे होश आया तो मैं डरी, सहमी, घबराई और घरवालो को चिल्ला रही थी। जब घरवाले आए तो देखा कि चोटी कटी हुई थी। जैसे तैसे घर वाले समझा रहे थे कि कुछ भी नही हुआ है। घटना करीबन रात के 1:10 का है। जब सुबह हुई तो अतवरिया देवी की हालात खराब देखकर परिजनों ने सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहा इनका ईलाज़ चल रहा है।

दूसरी घटना जिला के मीरगंज थाना क्षेत्र के सिंगहा टोला की है जहाँ बिगही गांव निवासी पिंटू कुमार भगत की पत्नी रविता कुमारी की चोटी उस समय कट गई जब वह घर में सुबह-सुबह झाड़ू लगा रही थी। महिला के परिजनों का कहना है कि बुधवार के सुबह अपने घर में सफाई करने के क्रम में रविता कुमारी को ऐसा महसूस हुआ जैसे उसके आस-पास में एक कुत्ते के आकार का कोई अज्ञात जीव है और उसी अज्ञात जीव ने उसके सिर का बाल काट लिया है। घटना के तुरंत बाद महिला बेहोश हो कर वही गिर गयी जिसे आनन-फानन में परिजनों ने अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!