गोपालगंज में शादी के बाद पति ने गर्भवती पत्नी को निकाला घर से बाहर, दिया तलाक

पहले मोहब्बत का झांसा, निक़ाह और फ़िर तलाक़। महिला हुई गर्भवती, पति को पुलिस ने भेजा जेल।

मामला फुलवरिया थाना के काज़ीपुर गाँव का है। जहाँ गाँव निवासी कमाल अख़्तर के पुत्र 22 वर्षीय तौफ़ीक़ अख़्तर के यहा अली मोहम्मद उर्फ़ मुन्ना की 18 वर्षीय पुत्री शबीना ख़ातून नौकरानी का काम करती थी। तीन वर्ष से शबीना ख़ातून तौफ़ीक़ अख़्तर के घर जाती थी। तब तौफ़ीक़ अख़्तर शबीना ख़ातून पर बुरी नज़र रखता था। एक दिन घर में अकेला देखकर उसके साथ वह शारीरिक सम्बन्ध बना लिया। जिससे वह गर्भवती हो गई।

शबीना ख़ातून ने आरोप लगाया की तौफ़ीक़ अख्तर ने शादी का झांसा देकर मेरा शारीरिक शोषण करता था। बार बार विरोध करने के बावजूद भी वह मेरे साथ शोषण करता रहा। जिससे मैं गर्भवती हो गई। जब वह गर्भवती हुई तो तौफ़ीक़ अख़्तर से कहने लगी कि शादी कब करोगे तो हमेशा यह कह कर टाल देता था। इधर जब शबीना के घरवालो को मालूम हुआ तो घर वालो ने दबाव डाल कर पूछताछ किया। तब जाकर शबीना ने अपने घर वालो को बताई की गाँव के ही तौफ़ीक़ अख़्तर ने मेरे साथ शारीरिक सम्बन्ध बना लिया है जिससे मैं गर्भवती हुई हूँ। उसके बाद घर वालो ने तौफ़ीक़ अख़्तर के घर पर गाँव वाले के साथ में जाकर दबाव डाला। तब घर वालो ने दबाव में आकर उसके साथ निकाह किया और अगले दिन कोर्ट में कोर्ट मैरेज़ भी किया। कोर्ट मैरेज़ करने के बाद लड़की को घर वाले अपने घर रखने लगे।

शबीना ख़ातून का कहना है की आए दिन तौफ़ीक़ मेरे साथ मारपीट करने लगा जिसे वह बर्दास्त कर रही थी। देखते देखते हैवानियत इतनी बढ़ गई कि तौफ़िक़ अख़्तर ने मुझे मारपीट कर और तलाक देकर अपने घर से भगा दिया। शबीना ख़ातून ने अपने घर आकर घरवालो को यह सब बातें बतायी।

घरवालो ने यह सब सुनकर फुलवरिया थाना में जाकर शिकायत दर्ज़ किए। जिसमे फुलवरिया थाना में दो लोगों पर प्राथिमिकी दर्ज़ किया गया। पुलिस ने प्राथिमकी दर्ज़ कर मामले की छानबीन में जुट गए। जिसमे तत्काल कार्यवाही करते हुए तौफ़ीक़ अख़्तर को गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया और अभी भी तौफ़ीक़ अख़्तर के अम्मी फरार है। वही फुलवरिया थानाध्यक्ष ने सलाह दिया कि आप गोपालगंज महिला थाना में जाकर वहा पर भी एफआईआर कर दीजिए। इधर महिला थाना ने जब एफआईआर दर्ज़ करने आई तो महिला थाना ने शबीना ख़ातून के हालात देखकर सबसे पहले ईलाज़ के सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहाँ इसका ईलाज़ चल रहा है।

वही दूसरी तरह तौफ़िक़ अख़्तर का कहना है की यह शादी उसकी रजामंदी से नहीं हुई थी। उसने ये भी आरोप लगाया है कि गर्भ में पल रहा बच्चा भी उसका नहीं है इसलिए वह अपनी पत्नी के साथ दोबारा नहीं रहना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!