बिहार में नीतीश कैबिनेट का विस्तार, राज्यपाल ने 26 मंत्रियों को दिलाई शपथ

बिहार विधानसभा में बहुमत पारित करने के बाद शनिवार (29 जुलाई) को नीतीश कुमार कैबिनेट विस्तार किया गया . बता दें कि शुक्रवार को नीतीश कुमार ने सीएम पद की और बीजेपी के सुशील कुमार मोदी ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली थी. राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी नीतीश सरकार के  मंत्रियों को राजभवन में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई .इस शपथ ग्रहण कार्यक्रम में रामविलास पासवान भी मौजूद हैं. रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) से पशुपति पारस भी मंत्रिमंडल में शामिल होंगे. बिहार कैबिनेट में अधिकतम 35 मंत्री हो सकते हैं. इनमें आज 26 मंत्रियों को ही शपथ दिलायी गई. उम्मीद की जा रही है कि अगले कैबिनेट विस्तार में अन्य बचे विभागों का बंटवारा किया जायेगा. इस कैबिनेट विस्तार के बाद नये मंत्रिमंडल की बैठक होगी.

1. मधुबनी जिले के बाबूबरही से जदयू विधायक कपिलदेव कामत ने ली मंत्री पद की शपथ. पंचायती राज मंत्री रह चुके हैं.

2. भाजपा के कृष्ण कुमार ऋषि बने मंत्री. पूर्णिया के बनमनखी से भाजपा विधायक हैं.

3. दरभंगा के गौरा बरम से जदयू विधायक मदन सहनी ने ली मंत्री पद की शपथ. खाद्य आपूर्ति मंत्री रह चुके हैं.

4.  प्राणपुर सीट से भाजपा विधायक विनोद कुमार सिंह मंत्री बने.

5. जदयू कोटे से खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद मंत्री बने. खुर्शीद अहमद ने सिर्फ दसवीं तक पढ़ाई की है.

6. पूर्वी चंपारण के मधुबन सीट से भाजपा विधायक राणा रणधीर सिंह पहली बार बने मंत्री. राणा के खिलाफ कोई आपराधिक मामला नहीं है. बेदाग छवि के राणा सांसद सीताराम सिंह के पुत्र हैं.

7.  बक्सर के राजपुर सीट से विधायक संतोष निराला ने ली मंत्री पद की शपथ. एससी-एसटी कल्याण मंत्री रह चुके हैं.

8. लखीसराय से भाजपा विधायक विजय कुमार सिन्हा ने ली पहली बार मंत्री पद की शपथ.

9.  जदयू कोटे से कुमारी मंजू वर्मा को मंत्री बनाया गया. वह सामाजिक कल्याण मंत्री रह चुकी हैं. बेगूसराय की चेरिया बरियारपुर सीट से विधायक हैं. मंजू वर्मा नीतीश सरकार में एकमात्र महिला मंत्री हैं.

10.  मुजफ्फरपुर से भाजपा विधायक सुरेश शर्मा बने मंत्री. भाजपा प्रदेश व्यावसायिक मंच के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैँ.

11.  शैलेश कुुमार जदयू कोटे से मंत्री बनाये गये हैं. मुंगेर के जमालपुर सीट से जीते थे. ग्रामीण विकास मंत्री रह चुके हैं.

12.  विधान परिषद सदस्य विनोद नारायण झा बने मंत्री. पढ़े-लिख नेताओं में शुमार विनोद नारायण झा भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता भी रहे चुके हैं.

13.  कल्याणपुर (सुरक्षित) से जदयू विधायक महेश्वर हजारी बने मंत्री. शहरी विकास मंत्री रह चुके हैं. 2009 में सांसद भी रह चुके हैं.

14.  घोसी (जहानाबाद) से जदयू विधायक कृष्णनंदन वर्मा ने ली शपथ. लोक निर्माण अभियंत्रण मंत्री रह चुके हैं.

15.  पूर्वी चंपारण के मोतिहारी से भाजपा विधायक प्रमोद कुुमार बने मंत्री. पार्षद भी रह चुके हैं.

16.  दिनारा से जदयू विधायक जय कुमार सिंह ने ली शपथ. सहकारिता, उद्योग, साइंस व टेक्नोलॉजी मंत्री रह चुके हैं.

17.  बांका से भाजपा विधायक रामनारायण मंडल ने ली शपथ. चौथी बार जीत कर विधायक बने हैं. पहली बार मंत्री बन रहे हैं.

18.  श्रवण कुमार ने ली शपथ. जदयू कोटे से नालंदा से चुनाव जीते थे. ग्रामीण विकास और संसदीय कार्य मंत्री रह चुके हैं.

19. पटना साहिब से भाजपा विधायक नंदकिशोर यादव ने ली शपथ. प्रदेश भाजपा में दूसरे नंबर पर हैं. पथ निर्माण मंत्री रह चुके हैं.

20.  विधान परिषद सदस्य राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने ली शपथ, पहले जल संसाध्न मंत्री रह चुके हैं.

21.  गया से भाजपा विधायक प्रेम कुमार ने ली शपथ, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रह चुके हैं.

22.  सुपौल से जदयू विधायक विजेंद्र यादव ने ली शपथ.

23. दिनेश चंद्र यादव सहरसा के सिमरी बख्तियारपुर से जदयू विधायक हैं. दिनेश चंद्र यादव सहरसा से सांसद भी रह चुके हैं.

24. मधेपुरा के सिंहेश्वर विधानसभा सीट से जदयू विधायक रमेश ऋषिदेव बने मंत्री. पहली बार ली मंत्री पद की शपथ. 2005 में पहली बार बने थे विधायक.

25. कैमूर जिले के चैनपुर से भाजपा विधायक ब्रजकिशोर बिंद ने ली पहली बार मंत्री पद की शपथ.

26.पशुपति कुमार पारस लोजपा नेता हैं. पारस अभी बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों में से किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं. पशुपति कुमार पारस लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान के भाई हैं.

गौरतलब है कि महागठबंधन में विवाद के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर महागठबंधन तोड़ने की घोषणा कर दी थी.

इसके अगले दिन नीतीश ने भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के समर्थन से छठी बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. शुक्रवार को बिहार में राजग की नई सरकार ने विधानसभा में बहुमत हासिल किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!