बिहार का रेलवे स्टेशन, जहां से पति को छोड़ भाग जाती है पत्नियां…

हमारी जिंदगी में शादी के अलग मायने होते है, ये दुल्हा दुल्हन दोनों के लिए खास मौका होता है। ऐसा ही दिन आया था मोहम्मद हसनेन की जिदंगी में जब वह अपनी पत्नी नाजमिन खातून के साथ आंखों में तमाम सपने लिए घूमने जा रहा था। दोनों पटना जंक्शन से भागलपुर जाने वाली ट्रेन में सफर कर रहे थे। लेकिन आगे जब ट्रेन करीब 220 किलोमाटर तक पहुंची तो अचानक मोहम्मद ने देखा कि उसकी बीवी तो उसके साथ है ही नहीं, मोहम्मद काफी परेशान हो गया। ईधर उधर देखने के बाद जब उसे कुछ समझ नहीं आया तब वह पुलिस में अपनी बीवी के गायब होने की रिपोर्ट लिखवाने चला गया। वही पुसिल फिर से हैरान कि आखिर दोबारा से वही केस, किसी शादीशुदा जोड़े की पत्नी के गायब होने की खबर।

बात 30  मई 2016 की है। जब राजेन्द्र नगर से कामाख्या जाने वाली कैपिटल एक्सप्रेस से रंजीता अचानक गायब हो गई थी। पटना का कंकड़बाग निवासी और यूपी में बैंक मैनेजर अपनी पत्नी रंजीता के साथ ट्रेन से गर्मी की छुट्टी बिताने न्यू जलपाईगुड़ी जा रहा था। राजेंद्र नगर स्टेशन से ट्रेन के रुकने के बाद पति-पत्नी दोनों सो गए थे और कुछ देर बाद जब पति की नींद खुली तो पत्नी नहीं थी। पत्नी को न देखकर पति घबरा गया। उसने फौरन ही कटिहार रेल थाने में पत्नी के लापता होने की रिपोर्ट लिखवाई।

आखिर माजरा क्या था? कहां जा रही थी ये नई-नवेली दुल्हनें अपने सोते पतियों को छोड़कर? सारे ही पति अपने सिर पकड़कर परेशान बैठे थे। पुलिस भी समझ नहीं पा रही थी कि आखिर मामला क्या है? क्या ये अपहरण का केस था? और वो कौन लोग थे जिनका टारगेट सिर्फ दुल्हनें ही थी आखिर ऐसा करके अपहरणकर्ताओं को क्या फायदा हो रहा था। यह मामला अनसुलझा हुआ था। उसके बाद पुलिस ने मामलों की जांच शुरु कर दी।

पुलिस ने बैंककर्मी की पत्नी रंजीता के मोबाइल लोकेशन के जरिये रिसर्च शुरु कर दी थी। वहीं मीडिया में अपनी खबर देखने के बाद रंजीता घबरा गई जिसके बाद उसने अपने पिता को फोन किया और बताया किसी ने उसका अपहरण नहीं किया बल्कि वो खुद अपनी मर्जी से भागी है।

रंजीता ने बताया कि वो अब अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती। वो अपने प्रेमी से शादी करना चाहती थी। उसने अपने घर में इस शादी का विरोध किया था, जिसके कारण उसके घर में बवाल हो गया था। आखिर में वह मां-बाप के दबाव में शादी के लिए तैयार हो गई थी।

पटना में मई 2013 में उसकी शादी हुई थी। लेकिन उन दोनों के बीच पति-पत्नी जैसे रिश्ते नहीं थे। रिश्ते की इस कड़वाहट को ही ठीक करने के लिए पति ने हनीमून का प्लान बनाया और रंजीता के साथ ट्रेन से 30 मई को दार्जिलिंग जाने का तय किया  लेकिन, बीच रास्ते में रंजीता उसे सोता छोड़कर अपने प्रेमी मृत्यंजय के साथ चली गई।

दिलचस्प बात है कि बिहार का एक ऐसा स्टेशन ‘बाढ़’, जहाँ से पत्नियों के गायब होने की खबर करीब एक साल से आ रही है, और यह सिलसिला आज तक रुका नहीं है। बाढ़ को अब लोग पत्नियों के गायब होने वाले स्टेशन भी कहने लगे है। क्यूकि यहां से पत्नियां अपने पति को छोड़कर फरार हो जाती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!