गोपालगंज के उचकागांव में दहेज़ लोभियों ने अपनी 20 वर्षीय बहु को जिंदा जलाया, हुई मौत

महिलाओ के साथ उत्पीड़न की वारदाते रुकने का नाम नहीं ले रहा है. उचकागांव थाना क्षेत्र के पिरणा गांव में शुक्रवार की देर रात को ससुरालवालों द्वारा दहेज की माँग को लेकर बहू को जिंदा जलाने का मामला प्रकाश में आया है. गंभीर रूप से पूरी तरह से झुलसी महिला को सदर अस्पताल भरती कराया. जहाँ से डोक्टारो ने महिला को गोरखपुर रेफर कर दिया, लेकिन गोरखपुर पहुचने से पहले ही रास्ते महिला ने दम तोड़ दिया.

मिली जानकारी के अनुसार गोपालगंज जिला के मीरगंज थाना क्षेत्र के मीरगंज वार्ड संख्या 11 के निवासी कृष्णा प्रसाद ने अपनी 20 वर्षीय पुत्री नंदनी की शादी बीते साल 27 फ़रवरी को उचकागांव थाना क्षेत्र के पिरणा गाँव निवासी राज कुमार के पुत्र मोती प्रसाद से की थी. शादी के कुछ वक़्त बाद मोती प्रसाद रोजगार के लिए विदेश चला गया. उसके बाद नंदनी के ससुराल वालो ने उसपर दहेज़ के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया. यहाँ तक की ये लोग यह भी कहने लगे की अगर दहेज़ नहीं दे पाई तो हम अपने बेटे की दूसरी शादी कर देंगे. जब नंदनी ने इस बात की शिकाया विदेश में रह रहे अपने पति से की तो वो भी यही कहने लगा और नंदनी से बात करना छोड़ दिया.

बीती रात बात काफ़ी बढ़ गयी. ससुराल वाले नंदनी के साथ काफ़ी मार पिट कर रहे थे और उन्होंने जिन्दा जला देने की धमकी भी दी. धमकी सुन नंदनी ने तुरंत इसकी जानकारी अपने माँ-बाप को दी. नंदनी के पिता ये सुनते ही अपनी बेटी के ससुराल के लिए निकल पड़े. लेकिन उन्हें क्या पता था की उनके पहुचने से पहले ही उनकी बेटी को दहेज़ के लोभी उनसे अग्नि के हवाले कर देंगे. नंदनी के पिता जब उसके ससुराल पहुचे तब उन्हने जो देखा उससे उनकी आँखे खुली की खुली रह गयी. उनके सामने उनकी बेटी बुरी तरह झुलसी हुई थी. आनन फानन में तुरंत उसे सदर अस्पताल लगाया गया जहाँ प्राथमिक इलाज करते हुए बेहतर इलाज के लिए गोरखपुर रेफर कर दिया जहाँ जाने के क्रम में नंदनी की मौत हो गयी.

घटना के बाद सभी आरोपित घर छोड़ कर फरार हैं. पुलिस ने मृत नंदनी के पिता के बयान पर ससुर समेत आधा दर्जन लोगों पर मामला दर्ज किया है. प्राथमिकी दर्ज करने के बाद पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!