बिहार: मैट्रिक परीक्षार्थियों के डाटा हैक कर ब्‍लैकमेल कर रहे साइबर क्रिमिनल्‍स

घोटालों के आरोपों से घिरे रहे बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड) के लिए यह एक नर्इ मुसीबत है। इसके रिजल्‍ट पर साइबर क्रिमिनल्‍स की नजर पड़ गई है। परीक्षा में ऑनलाइन आवेदन करने वाले परीक्षार्थियों के डाटा साइबर अपराधियों ने निकाल लिए हैं। अब इस डाटा के आधार पर वे परीक्षार्थियों को ब्लैकमेल कर रहे हैं। इंटरमीडिएट के रिजल्‍ट के बाद अब मैट्रिक के परीक्षार्थी उनके टागरेट पर हैं।

बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट जल्‍दी ही निकलने वाला है। इसमें शामिल परीक्षार्थियों के हैक डाटा से उनके फोन नंबर निकाल साइबर अपराधी पूरे राज्य में परीक्षार्थियों व उनके परिजनों को ताबड़तोड़ फोन कर रहे हैं। संबंधित परीक्षार्थी को उसके नाम, स्कूल, पता आदि सारी जानकाी देकर वे अपने प्रभाव में ले रहे हैं। परीक्षार्थियों की इतनी जानकारी बिना डाटा हाथ लगे संभव नहीं।

साइबर अपराधी मैट्रिक परीक्षार्थियों को उनके बारे में पूरी जानकारी देकर अपने प्रभाव में लेकर उन्‍हें रिजल्‍ट की जानकारी दे रहे हैं। फिर, नंबर बढ़वाने का लालच देकर रुपयों की मांग कर रहे हैं। खास बात यह है कि ऐसे कॉल इंटर के रिजल्‍ट के पहले इंटर परीक्षार्थियों को भी आए थे। कई परीक्षार्थियों के अनुसार उन दिनों उन्‍हें नंबर की जो जानकारी दी गई थी, कमोबेश वह सही निकली थी।

माध्यमिक शिक्षक संघ के राज्य अध्यक्ष केदार पांडेय मानते हैं कि डाटा सेंट्रलाइज्‍ड प्वाइंट से ही लीक हुआ है। बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि ऐसी शिकायतें उनके संज्ञान में हैं। कई जिलों में एफआइआर भी दर्ज कराए गए हैं। उन्‍होंने माना कि स्कूल के कंप्यूटर ऑपरेटर या साइबर कैफे से डाटा लीक हो सकते हैं। लेकिन, उनके अनुसार रिजल्‍ट में छेड़छाड़ संभव नहीं।
पटना के एसएसपी मनु महाराज के अनुसार डाटा कहीं न कहीं से लीक हुआ है। साइबर एक्सपर्ट की मदद से इसका अनुसंधान किया जाएगा। डीजीपी पीके ठाकुर ने भी कहा कि पुलिस इस मामले की तह तक जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!