बिहार में खराब मौसम ने ढाया कहर, आंधी,तूफान और बिजली गिरने से गईं 23 जानें

बिहार के कई हिस्सों में तेज बारिश और आंधी-तूफान के बीच आकाशीय बिजली और दीवार गिरने से रविवार को कम से कम 23 लोगों की मौत हो गई। बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों के मुताबिक मरने वालों में ज्यादातर महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं।

पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया में बिजली की चपेट में आने से छह लोगों की मौत हो गई जबकि जमुई जिले में पांच, पूर्वी चंपारण जिले के मोतीहारी में चार, भागलपुर में तीन और वैशाली तथा समस्तीपुर जिलों से एक-एक व्यक्ति के मरने की खबर है। मुंगेर जिले में भी दो लोगों की मौत की खबर है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने इस प्राकृतिक आपदा में मारे गए लोगों के परिवार वालों को 4-4 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

समस्तीपुर में आंधी-पानी के दौरान सैलून संचालक समेत दो लोगों की मौत हो गयी। मुक्तापुर जूट मिल के पास सैलून पर पेड़ गिरने से सैलून संचालक वारिसनगर थाने के कुसैया गांव निवासी महेश ठाकुर (40) की मौत हो गयी, जबकि दो अन्य जख्मी हो गए। मोहिउद्दीननगर थाने के महमद्दीपुर के दियारा में भैस चरा रहे राजेश कुमार (28) की मौत बिजली  गिरने से हो गयी।

इस दौरान जिले में कई लोग जख्मी भी हो गए। समस्तीपुर स्टेशन रोड व माधुरी चौक पर रेलवे क्वार्टरों पर कई पेड़ गिर गये। इससे तीन क्वार्टर क्षतिग्रस्त हो गये। ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों व एनएच पर कई जगह पेड़ गिर गये, जिससे यातायात बाधित हो गया है। पूरे बिहार में अलर्ट जारी कर दिया गया है लोगों को सलाह दी गई है कि वो खराब मौसम में अपने धरों से ना निकलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!