एयर लाइंस चलाने के भी पैसे नहीं बचे पाकिस्तान सरकार के पास, बंद होगी पीआईए

घाटे में चल रही पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के लिए पाकिस्तान सरकार ने सभी दलों से पार्टी लाइन से हटकर इसे दिवालिया घोषित कर बंद करने की अपील की है क्योंकि एयरलाइन में अनुशासन, शीर्ष गुणवत्ता प्रबंधन, नैतिक और पेशवर अधिकारियों का अकाल है.  संसद की विशेष समिति के समक्ष यह प्रस्ताव प्रधानमंत्री के विमानन सलाहकार सरदार मेहताब अब्बासी ने रखा. इस समिति का गठन पीआईए के एक विमान में लंदन में नशीली दवाएं पाए जाने के बाद उसके प्रदर्शन के आकलन के लिए किया गया है.

डॉन अखबार ने अब्बासी के हवाले से लिखा है, संसदीय समिति की ओर से की गई ऐसी सिफारिश (बंद करने की सिफारिश) से सरकार को इस मुश्किल फैसले को लेने में मदद मिलेगी नहीं तो वह ऐसा करने में हिचकेगी. समिति ने पीआईए के संपूर्ण सुधार पर अपनी सिफारिशों की स्थिति पर विचार-विमर्श करने के लिए बैठक की और पिछले एक महीने में घटी उन घटनाओं पर विचार किया जिनसे देश और एयरलाइन दोनों की साख पर बटटा लगा है. अब्बासी ने समिति के सामने तीन विकल्प रखे हैं- पहला कि यह जैसे चल रही है उसे वैसा ही घाटे में चलने दें, दूसरा इसे दिवालिया घोषित कर बंद कर दें या तीसरा इसका पुनर्गठन करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!