गोपालगंज में छेड़खानी की शिकार हुई दो बहनों को नहीं मिल रहा है इन्साफ, आत्महत्या करने पर उतारू

एक तरफ जहाँ सरकार बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का भले ही नारा देती हो वहीं दूसरी तरफ़ दबंगो के छेड़खानी का विरोध करने वाली सगे दो बहने आत्महत्या करने पर उतारू है। छेड़खानी और मारपीट के मामलें में न्यायालय में चल रहे मुकदमें में जमानत कराने आये दंबगों के जमानत का विरोध करने पर दबंगो ने कोर्ट के बाहर दोनों बहनों के साथ मारपीट और गाली ग्लोज किया। डरी सहमी दोनों बहनों ने डीएसपी मुख्यालय को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई और कहा कि अगर इस बार न्याय नहीं मिला तो दोनों बहनें आत्महत्या कर लेगी।

थावे थाना के रामचंन्दपुर टोला बढईहाता गांव की वीभा कुमारी और रूचिका कुमारी को गांव के दंबग युवकों ने स्कूल जाते समय छेड़खानी करने, अवैध संबंध बनाने के लिए दवाब डालते थे जिसका विरोध करने पर इन युवकों ने दोनों बहनों की जमकर पीटाई किया। इसको लेकर थावे थाना में कांड संख्या 145/16 छेड़खानी करने और मारपीट का मामला दर्ज कराया गया। थावे पुलिस ने आरोपियों को धड़पकड़ के लिए कोई कारवाई नहीं की। जिसको लेकर स्थानीय लोगों ने मामलें को सुलह करा दिया। आरोपियों ने लिखित दिया कि अब मारपीट या छेड़खानी की घटना नहीं किया जायेगा।

इसी बीच दुबारा इन लोगों ने जान मारने के नियत से पहले दोनों बहनों की बुरी तरह से पिटाई किया और जबरन जहर पिलाया ताकि वह मर जाय। गांव के लोगों ने उन दोनों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया जहां दोनों को डाक्ट्ररों ने पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया गया। इसको लेकर थावे थाना में कांड संख्या 40/17 मामला दर्ज किया गया। फिर भी थावे पुलिस ने कोई कारवाई नहीं की। हालांकि दोनों मुकदमा में वरीय पुलिस पदाधिकारी ने मामला को सत्य पाया और थावे थाना को कारवाई करने का आदेश दिया। लेकिन थावे पुलिस ने कोई कारवाई नहीं की। जब जमानत कराने आये आरोपियों के सीजीएम के कोर्ट में जमानत का विरोध करने से नाराज आरोपियों ने कोर्ट के बाहर भी गाली ग्लौज किया।

इस घटना से डरी सहमी दोनों बहनें ने मुख्यालय डीएसपी से मिलकर घटना की जानकारी दी। न्याय नहीं मिलते देख उन लोगों ने आत्महत्या करने का मन बना लिया है। जबकि आने वाली 7 जून को एक बहन रूचिका कुमार का शादी होना है और दंबगों ने शादी के पहले उठा लेने की धमकी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!