गोपालगंज के कुचायकोट थाने के दारोगा रंग रेलिया मनाते आपत्तिजनक हालत में धराए, सस्पेंड

गोपालगंज जिला के कुचायकोट थाने में तैनात आशिक मिजाज दारोगा रंगे हाथों रंग-रेलिया मनाते ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गए।

मालूम हो कि कुचायकोट थाने में प्रधुम्न सिंह दारोगा के पद पर तैनात थे। उनका रहन-सहन आशिक मिजाज का था। उनका अक्सर सासामुसा सिरिसिया गांव में आना-जाना लगा रहता था। पहले ग्रामीणों ने यह सोच कर अनदेखा कर दिया कि किसी केस के सिलसिले में गांव में आते-जाते होंगे। इसी बीच दारोगा जी रात में भी गांव से होकर आते-जाते दिखे। इधर रात में दारोगा जी को अकेले बाइक पर गांव में विचरण करता देख ग्रामीणों को शक हुआ। फिर क्या था ग्रामीणों ने दारोगा जी पर नजर रखना शुरू कर दिया। बुधवार की रात दारोगा जी हमेशा की भांति अपनी बाइक से सिरिसिया गांव में एक व्यक्ति के मकान के पहुंचे। इसके बाद बाइक खड़ी किए और घर में घुस गए। ग्रामीणों ने पहले उनकी शुरू की हरकत की वीडियों बनाई इसके बाद धावा बोल दिया। दारोगा गांव की एक महिला के संग आपत्तिजनक हालत में धरा गए। इसके बाद ग्रामीण उन्हें खींचते हुए बाहर लाए और ग्रामीणों के सुपुर्द कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों आक्रोश में दारोगा की पिटाई भी कर दी। जिसे दारोगा एक सिरे से नकार रहे है। उनका कहना था कि महिला के पति ने उन्हें खाने पर बुलाया था। इसी दौरान वहां ग्रामीण पहुंच गए।

इधर दारोगा के धराने की सूचना जैसे ही मुखिया धर्मेन्द्र मिश्र व सरपंच रामाश्रय मिश्र को हुई वे सीधा मौके पर पहुंचे। देखा कि दारोगा ग्रामीणों से माफी मांग रहे है। यह देख बीच बचाव कर मामले को शांत कराया। इसके बाद कुचायकोट की पुलिस बुला वहां से हटवाया। इधर एसपी रविरंजन को इस बात की जैसे ही जानकारी हुई उन्होंने तत्काल दारोगा प्रधुम्न सिंह को सस्पेंड कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!