गोपालगंज के अंचल अधिकारी पर होम गार्ड के जवान ने रिश्वत लेने का लगाया आरोप

गोपालगंज जिले के जन शिकायत कोषांग में पदस्थापित होम गार्ड जवान श्रीनाथ मांझी अपने राजेंद्र नगर में स्थित अपने जमीन के दाखिल खारिज के लिए पिछले 11 महीनो से अंचल कार्यालय का चक्कर लगा रहे है, परन्तु अभी तक उनका दाखिल ख़ारिज नहीं हो पाया है. इस बात को लेकर वह बहुत नाराज दिख रहा था और आक्रोशित होकर कृष्णमोहन,अंचल अधिकारी, गोपालगंज पर रिश्वत लेकर भी काम नहीं करने का आरोप लगा रहे थे.

घटना के समय पर मौजूद हमारे संवाददाता सुनील कुमार को देखते ही वह उनके पास आया और अपनी आपबीती सुनाने लगा पर उसका बोलने का अंदाज़ एक सभ्य आदमी की तरह नहीं था. श्रीनाथ मांझी बार बार अंचल अधिकारी को गलियां दे रहा था और धमका रहा था की यदि मेरा काम नहीं हुआ तो मैं कुछ भी कर सकता हूँ. वहां मौजूद कर्मचारियों ने उसे समझा बुझाकर वापस लौटने को कहा पर वो नहीं माना औए वही अपनी गाडी को घुमा-घुमा कर गलियां दे रहा था .

घटना की गम्भीरता को देख कर अंचल अधिकारी ने इसकी सुचना नगर थाने को दिया पर इसकी सुचना जैसे ही उस व्यक्ति को मिला धीरे से वहां से भाग निकला. जिससे पुलिस के आने पर उसे कोई नहीं मिला पर कुछ ही देर बाद अपने दो तीन साथियों के साथ आकर फिर से वह गलियां देने लगा जिससे परेशान होकर अंचल अधिकारी ने इसकी सुचना फिर से नगर थाने को दिया जिसके बाद ASI आर एस पटेल अपने दल बल के साथ वहां पहुंचे पर फिर वो वहां से भाग निकला .

पुरे मामले को गंभीरता से अध्ययन करने पर यही पता चल रहा है की जब एक कर्मचारी को अपना काम कराने के लिए इतनी मशक्कत करनी पड रही है तो एक आम आदमी का क्या हश्र होगा ? इसी प्रकरण से उसका अंदाजा लगाया जा सकता है. आज पुरे देश में भ्रस्टाचार एक गंभीर विषय बना हुआ है सभी सरकारे रोजाना कुछ न कुछ नीति ला रही है पर हमारे पदासीन कर्मचारी सारी नीतियों को धत्ता साबित करते जा रहे है लगता है भ्रसटाचार उनके नस नस में बस गया है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!