स्वदेश लौटेंगे सऊदी अरब में फंसे 20 हजार भारतीय कामगार

सऊदी अरब में गलत हाथों में जाकर फंसे करीब 20 हजार भारतीय तीन महीने के भीतर अपने वतन वापस लौट पाएंगे. इन कामगारों के परिवारों के लिए ये बहुत बड़ी खुशखबरी है. बता दें कि सऊदी अरब सरकार ने भारतीयों को 90 दिन के लिए ‘राजमाफी’ दी है. ऐसे लोगों को अब 90 दिनों के भीतर देश छोड़ना होगा.

ऐसे लोगों में अधिकतर अवैध रूप से सऊदी अरब गए थे या ‘कबूतरबाजी’ के जरिए उन्हें वहां ले जाया गया था. ऐसे कामगार वीजा सीमा की अवधि पूरी होने के बाद भी वहां रहने को मजबूर हैं. इनमें सबसे ज्‍यादा संख्‍या तमिलनाडु से गए लोगों की बताई जा रही है. यूपी और बिहार से गए कामगारों की संख्या भी बड़ी है.

20,231 लोगों ने दी देश लौटने की अर्जी

इस संबंध में भारतीय दूतावास के लोक कल्याण परामर्शक अनिल नौटियाल ने कहा, कि सरकार द्वारा दी गई ‘राजमाफी’ के तहत मंगलवार तक 20,231 लोगों ने भारत लौटने के लिए अर्जी दाखिल की है.

बनाए गए विशेष सेंटर

भारत लौटने वाले लोगों को 90 दिनों के भीतर देश भेजने के लिए सऊदी अरब सरकार की ओर से रियाद में विशेष सेंटर बनाया गया है. यहां भारतीय अपने वतन लौटने की अर्जी दाखिल कर सकते हैं. भारतीय दूतावास ने सऊदी अरब में गैर-कानूनी तरीके से रह रहे सभी भारतीयों ने वापस घर लौटने की अपील की थी.

राजमाफी के लिए शुक्रिया

बता दें, कि भारत लौटने के लिए जिन मजदूरों ने अभी तक अर्जी दाखिल की है, वे बेहद बुरे हालात में यहां काम कर रहे हैं. एक भारतीय मजदूर ने बताया, ‘मैं पिछले चार सालों से यहां नर्क जैसे हालात में काम कर रहा हूं. मैंने कई जगह काम किया, ज्‍यादातर जगह मुझे पैसे भी नहीं मिले. यहां मजदूरों के लिए हालात बेहद खराब हैं. मैं सरकार का ‘राजमाफी’ प्रदान करने के लिए शुक्रिया अदा करता हूं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected By Awaaz Times !!