नहीं रहे अभिनेता विनोद खन्ना, 70 साल की उम्र में मुंबई में ली अंतिम सांस

लम्बी बीमारी के बाद बॉलीवुड अभिनेता विनोद खन्ना का निधन हो गया. उन्होंने 141 फिल्मों में काम किया था. वो 70 साल के थे. वो अटल बिहारी वाजपेयी की कैबिनेट में मंत्री भी बने थे. पिछले कुछ दिनों से मुंबई के अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

बता दें कि कुछ समय पहले उनकी एक तस्वीर पर सामने आई थी, जिसमें वे काफी कमजोर और बीमार नजर आ रहे थे. विनोद खन्ना ने बतौर विलेन फिल्म इंडस्ट्री में करियर की शुरुआत की थी. हालांकि एक समय वह ओशो से प्रभावित होकर संन्यास भी ले लिया था. बाद में उन्होंने फिर वापसी की.

बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने निधन पर दुख जताते हुए कहा, “हम काफी दुखी महसूस कर रहे हैं. हमें उनके ठीक होने की उम्मीद थी.’ विनोद के साथ स्क्रीन शेयर कर चुके ऋषि कपूर ने अमर अकबर एंथोनी का पोस्टर शेयर करते हुए लिखा, ‘हमेशा मिस करेंगे अमर’. बता दें कि फिल्म में विनोद ने अमर का रोल किया था.

मशहूर फिल्में  

विनोद खन्ना को अमर अकबर ऐंथनी, हेरा फेरी, चांदनी, द बर्निंग ट्रेन, मुक्क्दर का सिंकदर, परवरिश, नहले पे दहला, दयावान और कुर्बानी जैसी फिल्मों को खूब सराहा गया था. मेरे अपने, मेरा गांव मेरा देश, अचानक और सत्यमेव जयते उनकी यादगार फिल्मों में शुमार की जाती हैं.

पाकिस्तान में हुआ था जन्म

विनोद खन्ना का जन्म एक बिजनेस फैमिली में 6 अक्टूबर,1946 को पेशावर (अब पाकिस्तान) में हुआ था. 1947 में बंटवारे के बाद उनका परिवार मुंबई आ गया था. उनके माता-पिता का नाम कमला और किशनचंद खन्ना था. वे नासिक के एक बोर्डिग स्कूल में पढ़े.

सियासी कैरियर

विनोद खन्ना चार बार पंजाब के गुरुदास पुर से सांसद रहे.  2002 में वे संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय में मंत्री रहे. इसके बाद वे विदेश मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री बने.

दो शादियां और चार बच्चे 

विनोद की पहली शादी 1971 में गीतांजली से हुई थी. पहली शादी से दो बेटे राहुल खन्ना और अक्षय खन्ना हैं. ओशो के अनुनायी बनने के बाद परिवार से दूरी बन गई और उनकी पहली शादी टूट गई. फिर उन्होंने 1990 में कविता से शादी की. दूसरी शादी से उनके एक बेटा साक्षी और एक बेटी श्रद्धा हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!