मुस्लिम महिला ने दी ससुराल वालों को हिन्दू बन जाने की धमकी

बुलंदशहर की रिहाना (30) का निकाह 2012 में जमालपुर के मोहम्मद शरीफ से हुआ था। कुछ महीने पहले पति से लड़ाई होने के बाद वह अपनी चार साल की बच्ची को लेकर माता-पिता के घर चली गई थी।

आपको बतादे कि जब वह मंगलवार को दोबारा ससुराल वापस आई तो ससुराल वालों ने उसे घर में घुसने नहीं दिया। तब से वह घर दरवाजे पर बैठी है। बुधवार को महिला की मदद करने हिंदू महासभा के स्थानीय नेता जमालपुर पहुंचे। इस कारण इस मुस्लिम इलाके में तनाव बढ़ गया है।

लेकिन महिला ने साफ किया है कि यह तीन तलाक का मामला नहीं है। इतना ही नहीं इसके बाद ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के एक प्रमुख सदस्य की ओर से तीन तलाक को डेढ़ साल में खत्म करने को लेकर दिए गए बयान का ‘भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन’ (बीएमएमए) ने बुधवार को स्वागत किया।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के एक प्रमुख सदस्य की ओर से तीन तलाक को डेढ़ साल में खत्म करने को लेकर दिए गए बयान का ‘भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन’ (बीएमएमए) ने बुधवार को स्वागत किया, साथ ही यह सवाल भी किया कि तीन तलाक खत्म करने के लिए 18 महीने क्यों चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!