बिहार कर्मचारी चयन आयोग के सचिव के गिरफ्तारी के बाद पैतृक गावं में छाया सन्नाटा

  • परमेश्वर राम के गिरफ्तारी के बाद पैतृक गावं रसूलपुर अमनौर में छाया सन्नाटा , कुछ स्पष्ट बताने से हिचक रहे है ग्रामवासी
  • ऊँची पकड़ रखने वाला परमेश्वर का गांव में भी करा रखा है अवैध निर्माण

छपरा- बिहार कर्मचारी चयन आयोग के सचिव परमेश्वर राम के गिरफ्तारी के बाद परमेश्वर के पैतृक गावं छपरा जिले के अमनौर प्रखंड के रसूलपुर गांव के रविदास मोहल्ले में सन्नाटा छाया हुआ है । रविदास मोहल्ले में कुछ बोलने से स्थानीय निवासी घबरा रहे है ।अति गरीब रविदास परिवार में जन्मे परमेश्वर अपने तीन भाईओं में बीच के है शुरू से पढ़ने में मध्य क्रम के रहने वाले परमेश्वर राजनीतिक पकड़ मजबूत रहे है ।

गावं में परमेश्व राम के बारे में पूछे जाने के बाद अलग अलग लोगो के जुबान से अलग अलग तरह की जानकारियां मिल रही है उनके गिरफ्तारी के बाद कई तरह के चर्चे है एक स्थानीय द्वारा नाम न छापने के शर्त पर बताया गया कि परमेश्वर की गिरफ्तरी बहुत पहले हो जाना चाहिए उनके ऊपर गावं में भी कई तरह के आरोप लगते आ रहे है ।
परमेश्वर राम के आरोप और वर्चस्व का इक जीता जागता उदाहरण उनमे मकान है जो सार्वजनिक बड़े से नाले को पूरी तरह से भर के अबैध रूप से निर्माण कराया गया है ,ग्रामीणों द्वारा इसका विरोध करने पर अपनी ऊँची पकड़ रखने वाले परमेश्वर ने सबकी विरोध की आवाज को दबवा दिया था ।

परमेश्वर राम हमेशा समय समय पर अपने गावं आते रहे है स्थानीय लोगो के अनुसार परमेश्व राम की संपन्नता का जीता जागता उदाहरण उनका ससुराल भी है जहाँ उन्होने अपने संपति को संजोया है और समय समय पर ससुराल वालों का मदद भी किया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!