बेसहारे की मदद में नर्स के बढ़े कदम

गोपालगंज। बेसहारे व भूख से पीडि़त व्यक्ति को सहारा देना व मदद करने से बढ़ा कोई पुनित कार्य नहीं है। इस कलियुग में बेसहारा व गरीब ही भगवान के अवतार हैं। ऐसे में उनको सहयोग पहुंचा कर भगवान की कृपा प्रदान कर सकते हैं। सदर अस्पताल में कार्यरत नर्स व वार्ड इंचार्य इंदू कुमारी के कदम अक्सर गरीब व बेसहारों मरीजों की मदद पहुंचाने के लिए बढ़ जाते हैं। वह अपनी ड्यूबी के प्रति जहां संवेदनशील रहती है, वहीं किसी बेसहारा मरीज को अपनी जेब से पैसे खर्च कर अस्पताल से मिलने वाली सहायता के लिए हमश तत्पर रहती है। उनके इस उत्कृष्ट कार्य के लिए अस्पताल प्रशासन के द्वारा उन्हें पूर्व में अवार्ड देकर सम्मानित किया जा चुका है। इस प्रकार वह एक और सराहनीय व पुनीत कार्य कर रही है, जिसके लिए वह चर्चित हुई है। पिछले चार दिनों से किसी एक रिक्श चालक ने सदर अस्पताल गोपालगंज में एक ऐसे मरीज को भर्ती कराया, जिसके साथ कोई नहीं था और नहीं उसके पास इलाज कराने के लिए पैसे ही। उसका एक पैर व हाथ जख्मी हो चुका है तथा उसमें कीड़े पड़ चुके हैद्व जिससे वह अपनी नित्य क्रिया करने भी असमर्थता है। इस गंभीर हालात व उसे बेसहारा देख नर्स इंदू कुमारी उसकी सेवा में लग गई। उसे समय से खाना खिलाने तथा उसका इलाज करने से लेकर उसकी देखभाल करना उसकी नीयती बन गई है। जैसे परिजन देखभाल करते हैं, उससे भी बढ़ चढकर वह उसकी देखभाल कर रही है। पीडि़त ने अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि वह किसी मेले से अपने भरेपूरे परिवार के सदस्यों से बिछुड़ गया। उसने अपना नाम सीता भगत बताया। उसने बताया कि उसका भाई रुपलाल राउत, पत्नी पानमती, बेटी श्रीराम पती है। उसकी बेटी की शादी नेपाल के जबका गांव में हो चुकी है। वह नेपाल के बार जिला, थाना कलइया के भरत चैक के सीडीओ के सामने का निवासी है। उसे अब अपने परिजनों को यहां आने का इंतजार है। वहीं नर्स इंदू कुमारी के द्वारा इस बेसहारा की सहायता कर उसे नया जीवन के पुनीत कार्य की सरहना पूरे जिले में हो रही। उनके इस अतुलनीय कार्य की चारों तरफ प्रशंसा हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!