गोपालगंज में जलालपुर एसएमडी कॉलेज के प्रिंसिपल फरार, पढ़ाई ठप

निगरानी ने अनुदान राशि घोटाला मामले में एसएमडी कॉलेज के प्रिंसिपल रामदुलार दास को गिरफ्तार करने का वारंट जारी कर दिया है। वारंट जारी होने की खबर मिलते ही प्रिंसिपल रामदुलार फरार हो गये हैं। इस मामले की वजह से कुचायकोट के जलालपुर स्थित एसएमडी कॉलेज में पढ़ाई ठप है। जयप्रकाश यूनिवर्सिटी से संबंधित गोपालगंज, छपरा और सीवान के कॉलेजों में अनुदान के नाम पर बड़े पैमाने पर राशि का बंदरबाट किया गया था। निगरानी ने जांच में पाया कि अकेले गोपालगंज के एसएमडी कॉलेज में 35 करोड़ की राशि का घोटाला हुआ था।। निगरानी के जांच रिपोर्ट के मुताबिक इस कॉलेज में वैसे लोगों के नाम से भी अनुदान की राशि निकली गयी थी, जो मृत थे।

उसी तरह इस कॉलेज के प्रिंसिपल रामदुलार दास की पत्नी निभा तिवारी के नाम पर साल 2007 से लेक्चरर के पद के नाम पर अनुदान की लाखों की राशि निकाली गयी थी। जबकि निभा तिवारी साल 2011 में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की है। निगरानी की जांच में यह भी बात सामने आयी थी कि एक ही शख्स नाम बदलकर कई बार अनुदान की राशि निकाला है। एक सप्ताह पहले निगरानी के मुजफ्फरपुर के डीएसपी, गोपालगंज के एसडीपीओ और कुचायकोट की पुलिस के नेतृत्व में एसएमडी के प्रिंसिपल के घर छापेमारी की गयी थी। लेकिन प्रिंसिपल की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। गिरफ्तारी नहीं होने के बाद निगरानी कोर्ट ने आरोपी प्रिंसिपल रामदुलार दास के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। वहीं, प्रिंसिपल की फरारी के बाद कॉलेज कर्मियों में हड़कंप है। कॉलेज के सभी काम ठप पड़े हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!