लादेन का बेटा ‘हमजा’ बना दुनिया के लिए नया खतरा, अमेरिका ने बनाया ‘वैश्विक आतंकवादी’

दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका पर आतंकी हमला करने वाला मोस्ट वांटेड ओसामा बिन लादेन के बाद उसके बेटे को भी ‘वैश्विक आतंकवादी’ घोषित कर दिया गया है।

अमेरिका ने अलकायदा के मारे जा चुके कर्ताधर्ता ओसामा बिन लादेन के बेटे और आतंकी संगठन अलकायदा के मुखिया हमजा बिन लादेन को सबसे बड़ा खतरा माना है। बता दें कि 2011 में अमेरिका ने पाकिस्तान के एबटाबाद में घुसकर ओसामा को मार गिराया था जिसके बाद हमजा को अल कायदा का सक्रिय प्रचारक बना दिया गया था। इससे लगभग डेढ़ साल पहले अलकायदा प्रमुख अल जवाहिरी ने हमजा को समूह का आधिकारिक सदस्य घोषित किया था।

अमेरिका ने क्यों घोषित किया हमजा को ‘वैश्विक आतंकवादी’

अमेरिकी खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, ओसामा का बेटा हमजा बिन लादेन एक बड़ा खतरा बनकर उभरा है। हमजा ने अमेरिकी नागरिकों को घर में घुसकर मारने की धमकी भी दी है।

दरअसल, साल 2015 में हमजा का एक ऑडियो सामने आया था जिसमें वह पश्चिमी देशों की राजधानियों में आतंकी हमले कराने की बात कहते सुना गया था। साल 2016 में भी उसका एक ऑडियो सामने आया जिसमें वह अमेरिका से बदला लेने की धमकी दे रहा था।

शातिर है हमजा

हमजा का आतंकी हमला करने का तरीका अलग है। हमजा ने एक बार आतंकियों से ग्रुप में हमला करने के बजाय अलग-अलग और अकेले किसी जगह को निशाना बनाने की अपील की थी। उसने अमेरिका, फ्रांस, इजराइल को निशाना बनाने को कहा।

लेना चाहता है बाप का बदला

साल 2011 में अमेरिकी फौज ने गुप्त ऑपरेशन के जरिए पाकिस्तान में ओसामा को मार गिराया तो हमजा ने पिता की मौत का बदला लेने की कसम खाई थी। ओसामा की मौत के बाद उसके डिप्टी कमांडर अयमन अल-जवाहिरी ने अलकायदा की बागडोर अपने हाथ में ले ली। लेकिन हमजा एक सक्रिय साजिशकर्ता रहा। साल 2014 में जवाहिरी ने ही हमजा के अलकायदा में शामिल होने का ऐलान किया और कहा कि वह अब इस संगठन का आधिकारिक सदस्य है।

ओसामा बेटे हमजा को बनाना चाहता अलकायदा का उत्तराधिकारी

ओसामा बिन लादेन अपने बेटे को उत्तराधिकारी बनाने की कोशिश में था। उस वक्त हमजा ईरान में नजरबंद था। ओसामा उसे अलकायदा नेता बनाना चाहता था। बता दें कि ओसामा का सबसे प्रिय बेटा हमजा, ओसामा बिन लादेन का सबसे चहेता बेटा था। एक ब्रिटिश नेता ने उसे एक बार क्राउन प्रिंस ऑफ टेरर कहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!