मेक इन इंडिया की दिशा में एप्पल आईफोन सस्ते होने की उम्मीद

दुनिया की दिग्गज तकनीकी कंपनियों में शामिल एप्पल द्वारा पीएम मोदी के मेक इन इंडिया अभियान के तहत भारत में आईफोन निर्माण को हरी झंडी दे दी गई है. इसका फायदा देसी ग्राहकों को होगा और आईफोन संभवता सस्ते दामों पर मिल सकेंगे. एप्पल बेंगलुरु में आईफोन का निर्माण करेगी.

ताजा खबर के मुताबिक ताइवान की विस्ट्रॉन, एप्पल की ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर (ओईएम) कंपनी है. विस्ट्रॉन ने बेंगलुरु के औद्योगिक हब पीन्या में आईफोन निर्माण के लिए फैसिलिटी सेंटर के लिए काम शुरू कर दिया है. संभवता अप्रैल 2017 यहां  पर आईफोन का निर्माण शुरू हो सकता है.

खबरों के मुताबिक एप्पल भारत में आईफोन असेंबलिंग को लेकर काफी गंभीरता से काम कर रही है. कंपनी की योजना है कि 2017 में भारत में ही आईफोन का निर्माण किया जाए. इसके पीछे की वजह यह है कि आईफोन का स्थानीय निर्माण कीमतों में कमी लाएगा जिससे प्रतिस्पर्धी कंपनियों को कड़ी टक्कर दी जा सकेगी.

गौरतलब है कि एप्पल को फिलहाल देश में आईफोन, आईमैक, आईपैड समेत अपने तमाम उत्पाद बेचने के लिए 12.5 फीसदी का आयात कर चुकाना पड़ता है. लेकिन स्थानीय निर्माण होने पर यह कर नहीं देना पड़ेगा और फोन की कीमत कम हो सकेगी. परिणामस्वरूप भारत के आईफोन प्रशंसकों को कम कीमत में फोन मिल सकेंगे.

इससे पहले मई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एप्पल के सीईओ टिम कुक ने अपने प्रोडक्ट्स के विनिर्माण और भारतीय प्रतिभा को अपने साथ जोड़ने पर चर्चा की थी. इस दौरान कुक ने मोदी को बताया था कि एप्पल भारत में अपना पहला डेवलपमेंट सेंटर हैदराबाद में खोलेगी. वहीं, कुक मोदी के मेक इन इंडिया कार्यक्रम से भी काफी प्रभावित हुए थे.

इस दौरान दोनों के बीच प्रमुख बात एप्पल आईफोन के निर्माण को लेकर की गई. इसके तहत एप्पल ने खुलासा किया कि वो भारत में आईफोन का निर्माण नहीं करेगा. बल्कि ताइवानी कंपनी फॉक्सकॉन करेगी.  दरअसल एप्पल स्वयं आईफोन का निर्माण नहीं करती. बल्कि फॉक्सकॉन ही उसके लिए चीन में आईफोन मैन्युफैक्चर करती है. और भारत के बाहर भी मेक इन इंडिया कार्यक्रम की बढ़ती लोकप्रियता ने इसे यहां पर निर्माण करने के लिए प्रेरित किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!